June 19, 2019
मुख्य खबरें राजनीति

ममता सरकार का होम मिनिस्ट्री को जवाब: एवरीथिंग इज फाइन  

कोलकाता: लोकसभा चुनाव के बाद से अभी तक वेस्ट बंगाल में हिंसा का माहौल खत्म नहीं हुआ है. राज्य में लगातार सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच कलह बढ्ती जा रही है. इसी बीच गृहमंत्रालय ने राज्य की स्थित के बारे में सरकार से सवाल किया है.

बतादें कि राज्य में लगातार जारी राजनितिक हिंसक घटनाओं पर अब गृहमंत्रालय ने राज्य की ममता सरकार को तलब कर दिया है! राज्य में जारी हिंसाओं को लेकर गृहमंत्रालय ने राज्य सरकार ने स्थित के बारे में सवाल किया है. जिस पर वेस्ट बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने गृह मंत्रालय को एक पत्र लिख कर कहा है कि राज्य में लोकसभा चुनाव के बाद मामूली घटनाएं हुई हैं, लेकिन स्थिति ‘नियंत्रण में’ है. लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान से ही राज्य में टीएमसी और बीजेपी के बीच स्थित बिगड़ी हुई है. यहाँ लगातार बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ताओं की हत्याएं की जा रही है.

जिसके लिए दोनों दल एक दूसरे को जिम्मेदार बताकर आरोप प्रत्यारोप का खेल खेल रहे हैं. यहाँ शनिवार को ही टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा में चार लोगों के मारे जाने की खबर आई थी. जिसके बाद केंद्र ने आज दिन में एक परामर्श जारी किया था, लेकिन राज्य की ममता सरकार ने गृह मंत्री अमित शाह को अलग से पत्र लिख कर कहा है कि वेस्ट बंगाल को केंद्रीय गृह मंत्रालय का परामर्श राजनीति से प्रेरित है. टीएमसी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी सत्ता ‘हथियाने’ के लिए गहरी साजिश कर रही है.

Loading...

यहाँ राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार डे ने गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा है कि, ‘कुछ असमाजिक तत्वों ने चुनाव बाद झड़प की छिट पुट घटनाओं को अंजाम दिया. कानून प्रवर्तन अधिकारी ऐसे सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी एवं उचित कार्रवाई की गयी है’. आपको बतादें कि लोकसभा चुनाव के खत्म हो जाने के बाद भी राज्य में खून खराबा जारी है. जिससे राज्य में लगातार राजनितिक गतिरोध बढ़ता जा रहा है.

Loading...

Related Posts