August 11, 2020
Headlines राजनीति

पुलिस लगाती रही मीडिया का पहरा: और हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जा पहुंचा उज्जैन

लखनऊ: कानपुर गोलीकांड के मास्टरमाइंड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के नॉएडा के फिल्म सिटी स्थित किसी मीडिया हाउस आने की अफवाह के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने नॉएडा के फिल्म सिटी आने जाने वाली सभी गाड़ियों की तलाशी नजर रख रही थी उधर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने खुद को मध्य प्रदेश पुलिस के हवाले किया.

बतादें कि गुरुवार को कानपुर गोलीकांड के मास्टरमाइंड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को मध्य परदेश से उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है. उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन पुलिस ने गिरफ्तार किया है. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर जाकर खुद को पुलिस के हवाले कर दिया. दो दिन पूर्व फरीदाबाद में हुई रेड के दौरान हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे होटल में ही था, लेकिन वहां से भी वह यूपी पुलिस से बचकर निकल भागा. उसके बाद यूपी पुलिस को किसी ने यह खबर दी कि विकास दुबे नोएडा स्थित फिल्म सिटी के किसी मीडिया हाउस में आ सकता है और मीडिया से बात करके सरेंडर कर सकता है. इस खबर के बाद यूपी पुलिस ने फिल्म सिटी में हर आने-जाने वाले पर नजर रखी जा रही थी.

महाकालेश्वर मंदिर ही क्यों पहुंचा हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे: मां ने बताई इनसाइड स्टोरी…

Loading...

गाड़ियों की चेकिंग तक की गयी और बड़े पैमाने पर फ़ोर्स तैनात रही लेकिन हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने गुरुवार को ही उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के पास से उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इसकी जानकारी भी उसने खुद की पुलिस तक पहुंचवाई. एक न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार विकास दुबे ने महकलेश्र्व मंदिर पहुंचा और वहां मौजूद गार्ड को बताया कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला. जिसके बाद स्थानीय मीडिया को खबर दी गई और मौके पर पहुंची पुलिस ने विकास दुबे को गिरफ्तार कर लिया.  इससे पहले उसने मंदिर की पर्ची भी कटवाई. गार्ड और मीडिया को खुद के बारे में बताने के बाद वह गिरफ़्तारी के वक्त सड़क पर चिल्लाता रहा. कहता रहा कि मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला.

उज्जैन से गिरफ्तार: मंदिर के बाहर चिल्लाकर कहा-मैं कानपुर वाला विकास दुबे हूँ…

फिलहाल हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की गिरफ़्तारी के बाद मध्य प्रदेश की पुलिस उसे अज्ञात स्थान पर ले गयी है और उत्तर प्रदेश एसटीएफ की टीम बी ही उज्जैन के लिए रवाना हो गयी है. आपको जानकारी हो कि कानपुर देहात के चौबेपुर थाना क्षेत्र में आने वाले बिकरु गाँव में 2 जुलाई की रात को भीषण मुठभेड़ हुई थी. पुलिस और हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के गैंग के बीच हुई इस मुठभेड़ में सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गये थे.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply