May 23, 2019
कारोबार

अमेरिका के छूट वापस लेने से व्यापार पर नहीं पड़ेगा कोई खास असर

नई दिल्ली: अमेरिका द्वारा जीएसपी को हटाने का फैसला लेने के बाद बाद व्यापार में पड़ने वाले असर को लेकर भारत सरकार ने कहा कि इस छोट के वापस लेने के बाद व्यापार पर किसी भी प्रकार का असर नहीं पड़ेगा.

बतादें कि यहाँ वााणिज्य सचिव अनूप वधावन ने मंगलवार को अपने कार्यालय में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि अमेरिका द्वारा जीएसपी यानी की (जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस) समाप्त करने के फासिले से भारत पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि,  अमेरिका को होने वाले कुल निर्यात में कर छूट वाले उत्पादों की संख्या कम है और इनका निर्यात मूल्य अपेक्षाकृत कम होता है. आगे उन्होंने कहा कि, अमेरिका ने भारत को अपनी सामान्य वरीय प्रणाली (जनरलाइज सिस्टम आफ प्रेफरेंस-जीपीएस) से बाहर करने के लिए 60 दिन का नोटिस दिया है. इस प्रणाली से बाहर होने से भारतीय उत्पादों को मिलने वाली 19 करोड डालर की छूट समाप्त हो जाएगी.

इससे लगभग 2000 भारतीय उत्पादों का 560 करोड़ डालर का निर्यात प्रभावित होगा. आपको मालूम हो कि अमेरिकी सरकार ने भारत के साथ जीएसपी यानी की (जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस) समाप्त करने का फैसला किया है. अमेरिकी मीडिया में जारी खबरों की माने तो अमेरिका ने विकाशील देशों की लिस्ट में से भारत के साथ अमेरिका का जीएसपी ख़त्म करने के फैसले पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

Loading...

दरअसल साल अमेरिका में ट्रेड एक्ट 1974 के तहत 1976 में इस जीएसपी का गठन हुआ था. जिसमें कुछ विकाशील देशों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए अमेरिका टैक्स में छूट देता है. यह सुविधा अमेरिका में बिना टैक्स सामानों का आयात करने की सुविधा देता है. अमेरिका ने दुनिया के 129 देशों को यह सुविधा दी है जहां से 4800 प्रोडक्ट का आयात होते हैं.

Loading...

Related Posts