December 14, 2019
बड़ी खबर राजनीति

उद्धव ने कहा-जल्द पूरा होने वाला है बालासाहेब का सपना: महाराष्ट्र सीएम की कुर्सी पर होगा शिवसैनिक

मुंबई: विधानसभा चुनाव के बाद सरकार न बनने के बाद महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग चूका है. इसी बीच खबर आ रही है कि आज शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस पार्टी सरकार बनाने के लिए राज्यपाल के दावा पेश कर सकते हैं.

बतादें कि पिछले एक महीने से महाराष्ट्र में चली आ रही सियासी उठापटक अब ख़त्म हो सकती है. महाराष्ट्र सरकार को लेकर आज शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन दल किसी भी वक्त सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं. आज शाम चार बजे गठबंधन दलों के नेताओं के बीच एक बैठक होने वाली है. जिसके बाद तीनों दलों के नेता राज्यपाल कोश्यारी के पास जाकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं.

इसी बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आज मातोश्री में शिवसेना विधायकों के साथ बैठक में खुद को मुख्यमंत्री पद की रेस से बाहर कर लिया है. बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैंने बालासाहेब ठाकरे को एक दिन महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री देने का वचन दिया था. अब ये वचन जल्द पूरा होने वाला है. आगे ठाकरे ने बीजेपी को भी निशाने पर लेते हुए कहा है कि, ‘ये नौबत बीजेपी के वजह से आई है.

बीजेपी ने अपना वादा तोड़ा है, इसलिए प्रदेश में दोबारा चुनाव न हो और महाराष्ट्र के हित देखते हुए मैने इस गठबंधन में जाने का फैसला लिया है.’ आगे उद्धव ने कहा कि मैंने कभी खुद को सीएम बनाने की बात नहीं कही. उधर शिवसेना सांसद और वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा है कि, ‘अब इंद्र का सिंहासन मिले तब भी बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे’ आगे उन्होंने बीजेपी पर तंज मारते हुए कहा है कि, ‘कभी कभी कुछ रिश्तों से बाहर जाना ही अच्छा होता है. अहंकार के लिए नहीं स्वाभिमान के लिए!’

वहीँ आगे संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना का ही सीएम होगा और आगे बनने वाली सरकार भी पूरे पाँच साल तक चलेगी.’ आपको बतादें कि महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच विवाद गहरा गया था. जिसके कारण दोनों का गठबंधन फिर से टूट गया है. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में किसी के पास सरकार बनाने के लिए पूर्ण बहुमत नहीं है. ऐसे में सीएम पद को लेकर हुए कलह के बीच शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस को साथ लेकर सरकार बनाने का फैसला किया है.

Loading...

Related Posts