July 8, 2020
Top News अंतरराष्ट्रीय

पकड़े गये पाकिस्तानी उच्चायोग के दो जासूस: दिल्ली के पते पर बनवा लिए फर्जी आधार कार्ड…  

नई दिल्ली: पाकिस्तान अपनी घटिया हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. राजधानी दिल्ली में जाँच एजेंसी ने दो पाकिस्तानी अफसरों सहित तीन लोगों को जासूसी के आरोप में पकड़ा है. इसमें दो लोग पाकिस्तानी नागरिक हैं और पाकिस्तानी उच्चायोग में वीजा विभाग में अधिकारी हैं. सभी भारतीय सेना की जासूसी करने के लिए फर्जी आधार कार्ड बनाकर दिल्ली में सेना से जुड़े अधिकारियों को टारगेट करते थे.

बतादें कि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अधिकारी सहिते तीन लोगों को भारती जांच एजेंसियों देश और सेना से जुड़ी जासूसी करने के मामले में पकड़ा है. दोनों अधिकारियों को पर्सोना-नॉन ग्रेटा घोषित कर सोमवार तक देश छोड़ने का आदेश दिया है.

ISI के इशारे पर जवानों को निशाना बना रहे थे पाक उच्चायोग के अधिकारी: 24 घंटे में देश छोड़ने का आदेश

इसके साथ ही भारत में मौजूद पाकिस्तान के उप राजदूत को एक आपत्तिपत्र भी जारी किया गया है. रिपोर्ट के अनुसार दोनों पाकिस्तानी अधिकारी आबिद हुसैन और ताहिर हुसैन वीजा सेक्शन में काम करते हैं. एजेंसी ने इन्हें करोल  बाग़ इलाके में रंगे हाथ पकड़ा था जब वह किसी आर्मी पर्सन के साथ डीलिंग करने के लिए गये थे. विदेश मंत्रालय के अनुसार दोनों पर लम्बे समय से जांच एजेंसियों की नजर थी और उन्हें मॉनिटर किया जा रहा था. विदेश मंत्रालय के अनुसार ये दोनों आर्मी पर्सनल को टारगेट करते थे और उनकी लिस्ट ISI देती थी. सेना से जुड़े अधिकारियों को टार्गेट कर उनके जानकारी लेते थे और उसके बाद उसे ISI को भेजा जाता था.

Loading...

चौंकाने वाली बात यह है कि पाकिस्तानी नागरिक होने के बाद भी इस काम के लिए उन्होंने फर्जी नाम और पते का आधार कार्ड तक बनवा लिया था. पाकिस्तानी उच्चायोग में काम करने वाले आबिद के पास से दिल्ली के गीता कॉलोनी के पते का आधार कार्ड मिला है जिसपर उसका नाम नासिर गोतम दिखाया गया था. इसके अलावा पकड़े गए जावेद का काम दिल्ली में आबिद और ताहिर को अलग-अलग इलाकों में ले जाना था. इनके लिए डाक्युमेंट्स भी जावेद ही बनवाता था. जावेद उच्चायोग में ड्राइवर था. दोनों के पास से कई संवेदनशील कागजात मिलने के बाद हडकंप मचा हुआ है. वहीँ अब जांच एजेंसी इस बात का पता लगाने में जुटी है कि इनके पास यह क्लासिफाइड सीक्रेट डॉक्युमेंट्स कहाँ से आये हैं और अंदर से उनकी मदद कौन कर रहा है.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply