September 17, 2019
देश

संसद में फिर लटका तीन तलाक विधेयक, कांग्रेस ने कहा रबर स्टैम्प नहीं है राज्यसभा  

नयी दिल्ली: लोकसभा से पास हो जाने के बाद तीन तलाक बिल एकबार फिर से राज्यसभा में अकार अटक गया है. सोमवार को शीतकालीन सत्र के 12वें दिन राज्यसभा में तीन तलाक बिल पर चर्चा होनी थी लेकिन विपक्षी सांसदों के हंगामे की वजह से नहीं हो सकी.

बत्दएं की तीन तलाक बिक को लोकसभा से मंजूरी मिल गयी है, वहीँ इस बिल पर अब राज्यसभा में चर्चा होनी है, लेकिन यहाँ बिल पेश किया जाता उससे पहले ही विपक्षी दलों के सांसदों ने इसे फिर से सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग करते हुए हंगामा कर दिया. लोकसभा में बीते सप्ताह वोटिंग के बाद यह विधेयक पारित हो चुका है लेकिन मोदी सरकार के सामने राज्यसभा से इसे पास कराने की चुनौती अब भी बनी हुई है.

राज्यसभा में सरकार के पास संख्याबल की कमी है. जिसके चलते यहाँ विपक्ष की सहमती से ही कोई विधेयक मंजूर हो सकता है, लेकिन तीन तलाक को लेकर विपक्ष का रवैया पहले से ही तीखा रहा है. ऐसे में तीन तलाक का मामला राज्यसभा में अटक सकता है. राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने विधेयक को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग की और कहा कि अधिकतर विपक्षी सदस्य इस विधेयक को प्रवर समिति(सेलेक्ट कमेटी) में भेजना चाहते हैं तो सरकार इसे क्यों नहीं भेज रही.

नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह एक ऐसा विधेयक है जो बहुत से लोगों के जीवन को सकारात्मक या नकारात्मक तरीके से प्रभावित करेगा, लिहाजा विधेयक को ज्वाइंट सेलेक्ट कमेटी में भेजकर इस पर विस्तार से चर्चा होनी चाहिए.

Related Posts