Wednesday, October 20, 2021

शबनम को हुई फांसी तो देश में आएंगी आपदाएं: राष्ट्रपति से माफ़ करने की अपील

राष्ट्रीय

अयोध्या: आजादी के बाद भारत में पहलीबार किसी महिला अपराधी को फांसी की सज़ा सुनाये जाने की तैयारी चल रही है. निचली अदालत के बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी महिला अपराधी शबनम को फांसी की सज़ा पर राहत नहीं मिली है. उसके बाद राष्ट्रपति द्वारा भी माफ़ न किये जाने के बाद अब अमरोहा काण्ड की मुख्य आरोपी शबनम को जल्द ही फांसी दी जा सकती है लेकिन इसी वक्त अयोध्‍या में तपस्‍वी छावनी के महंत परमहंस दास शबनम की फांसी की सज़ा को माफ़ करने की अपील की है.

बतादें कि साल 2008 में अमरोहा में हुए दिल दहलाने वाले हत्याकांड की मुख्य दोषी शबनम को फांसी की सज़ा सुनाई गयी है. हालाँकि अभी फांसी कब दी जायेगी इसकी तारीख़ तय नहीं हुई है. लेकिन अपने ही सात परिजनों की प्रेमी के साथ मिलकर बेरहमी से हत्या करने के मामले में दोषी करार दिए जा चुके शबनम और उसके छठी क्लास फेल सलीम को फांसी की सज़ा सुनाई गयी है.

वहीँ अगर शबनम को फांसी होती है तो आजादी के बाद वह महिला अपराधी होगी जिसे फांसी पर लटके जाएगा. उधर शबनम की फांसी को लेकर अब अयोध्‍या में तपस्‍वी छावनी के महंत परमहंस दास ने फांसी की सज़ा पर रोक लगाने की अपील की है. उन्होंने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से अपील की है कि वह शबनम की फांसी की सजा माफ कर दें.

महंत परमहंस दास ने TOI से बात करते हुए बताया, ‘हिंदू शास्‍त्रों में महिला का स्‍थान पुरुष से बहुत ऊपर है. एक महिला को मृत्‍युदंड देने से समाज का भला नहीं होगा, बल्कि इससे दुर्भाग्‍य और आपदाओं को न्‍यौता मिलेगा. यह सही है कि उसका अपराध माफ किए जाने योग्‍य नहीं है लेकिन उसे महिला होने के नाते माफ किया जाना चाहिए.’ महंत ने आगे कहा, ‘हिंदू धर्म के गुरु होने के नाते मैं राष्‍ट्रपति से अपील करता हूं कि शबनम की दया याचिका को स्‍वीकार कर लें.

उन्होंने आगे कहा, ‘वह जेल में अपने अपराध के लिए वह प्रायश्चित कर चुकी है. अगर उसे फांसी दी गई तो यह इतिहास का सबसे दुर्भाग्‍यपूर्ण अध्‍याय होगा’. राष्ट्रपति से अपील करते ही दास ने कहा कि, ‘राष्ट्रपति को असाधारण शक्तियां मिली हुईं हैं, उन्‍हें इन शक्तियों का प्रयोग क्षमा देने में करना चाहिए.’

छठी फेल आशिक संग रची खौफनाक साजिश

अमरोहा के बावनखेड़ी गाँव की शबनम पढ़ी लिखी थी, वह सरकारी स्कूल में शिक्षा मित्र के रूप में नौकरी कर रही थी, लेकिन एक छठी क्लास फेल सलीम के साथ मिलकर शबनम ने अपने पूरे परिवार को ख़त्म कर दिया था.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -




Latest News