November 21, 2019
उत्तर प्रदेश मुख्य ख़बरें

सड़क चौड़ीकरण: ग्रामीणों को नहीं दिया मुआवजा, धमकी देकर तुड़वा दिए मकान…

सिद्धार्थनगर: उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के एक गाँव में सरकारी उत्पीड़न का अजीबोगरीब मामला देखने को मिला है. यहाँ एक गाँव के दर्जनों लोग सड़क चौड़ीकरण के नाम पर कथित ‘सरकारी’ आदेश के डर के कारण अपने अपने मकानों को तोड़ रहे हैं. आदेश में कहा गया है कि अगर सड़क के लिए अपना मकान नहीं तोड़ा तो प्रशासन मकानों को तोड़ने के बाद खर्चा वसूलेगा.

बतादें कि पूरा मामला सिद्धार्थनगर की  शोहरगढ़ तहसील के अंतर्गत आने वाले गाँव खीरी उर्फ झुंगहवां और मटियार उर्फ भूतहवा का है. जहाँ पर्याप्त सड़क होने के बाद भी सड़क का चौड़ीकरण किया जा रहा है. उससे भी ज्यादा लोगों को तकलीफ इस बात से है कि सड़क चौड़ीकरण के लिए जो जमीन और मकानों को तोडा जा रहा है उसके लिए सरकार और प्रशासन ग्रामीणों को किसी भी तरह की मुआवजा राशि भी नहीं दे रहा है.

इस सम्बन्ध में ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ तक अपनी शिकायत पहुंचा चुके हैं लेकिन अभी उनकी शिकायत पर कोई भी गंभीरता नहीं दिखाई गयी है और क्षेत्र में लोगों को अपने ही मकान तोड़ने पर विवश किया जा रहा है.

सड़क का हो रहा है चौड़ीकरण

झुंगहवां और मटियार में सड़क का चौड़ीकरण हो रहा है. इस सड़क चौड़ीकरण के खिलाफ यहाँ के ग्रामीणों ने मोर्चा खोल रहा है. ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि सड़क चौड़ीकरण के नाम पर उन्हें धमकाया जा रहा है और अपने मकान तोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

Loading...

विभागीय अधिकारियों की कथित धमकी के कारण 30 के करीब लोगों ने अपने ही मकान तोड़ डाले हैं. वहीँ ग्रामीणों ने कहा सड़क चौड़ीकरण के नाम पर प्रशासन उनकी जमीन तो ले रहा है लेकिन अभी तक मुआवजे को लेकर उन्हें कोई भी आश्वासन नहीं दिया गया है.

जिला प्रशासन की उदासीनता के चलते लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है और उन्होंने चक्काजाम व धरने की धमकी दी है.

इस संबंध में सपा नेता कमाल अहमद खान ने लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता और विभागाध्यक्ष को पत्र लिख कर सड़क विस्तारीकरण से प्रभावित लोगों को मुआवजा देने के लिए पत्र लिखा है.

जबकि दूसरी ओर समाजसेवी बदरे आलम ने जिलाधिकारी और लोक निर्माण विभाग को पत्र देकर इस मामले की जांच कराने की मांग की है. हालाँकि अभी इस प्रशासन ने इस मामले में कोई भी कदम नहीं उठाया है और ग्रामीणों के विरोध के बावजूद लगातार सड़क का काम जारी है.

Report: Siddhiyeshkar Tripathi and Moh. Ibrahim

Loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *