Saturday, October 16, 2021

दर्श सक्सेना से बना रेहान अंसारी: फोन पर बात करते हुए रो पड़ा-माँ अब वापस नहीं लौट सकता…     

राष्ट्रीय

यूपी एटीएस द्वारा बड़े धर्मांतरण गिरोह का पर्दाफाश किये जाने के बाद देशभर से कई मामला सामने आ चुके हैं. जहाँ लोगों को बहलाफुसला कर, लालच देकर या फिर धमकाकर धर्म परिवर्तन कराया गया है. ऐसा ही एक और मामला अब सुर्ख़ियों में आ गया है. जहाँ एक लड़का पहले घर से पालता होता है उसके बाद वह नाम और पहचान बदलकर सोशल मीडिया पर आ जाता है.

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह मामला नोएडा सेक्टर 93 में रहने वाले एक परिवार का है. जिनका 17 वर्षीय बेटा (साल 2018 में) अचानक घर से लापता हो गया. उसकेबाद से उसकी कोई खबर नहीं लगी. परिवार ने पुलिस से लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई, लेकिन पुलिस का हाल पहले जैसा ही रहा. इसी बीच परिवार ने खुद भी बेटे को तलाशना जारी रखा.

ओवैसी ने मिलाया इस गठबन्ध से हाथ: UP में क्या गुल खिलाएगी मीम-भीम की एकता?

अचानक एक दिन उन्हें उनका बेटा सोशल मीडया पर मिल गया. जिसकी तस्वीर तो वही थी लेकिन नाम कुछ अलग था. यह देखते ही परिवार को ज़रा भी देर नहीं लगी की उनके बेटे का धर्मांतरण हो चूका है. नोएडा सेक्टर 93 में रहने वाली शिवानी सक्सेना ने बताया कि 5 मई 2018 को उनका 17 साल (2018 में 17 साल उम्र थी) का बेटा दर्श घर से चला गया था. दर्श, आईटीआई का कोर्स कर रहा था और साथ में कीर्ति नगर में स्थित एक कार कंपनी में ट्रेनिंग भी करता था. नॉएडा से कीर्ति नगर जाना बहुत मुश्किल होता है. इसलिए उसने कीर्ति नगर में अपने दोस्तों के साथ ही रहने को खा, जिसपर दर्श की माँ शिवानी ने उसके दोस्तों से बात करवाने को कहा.

बीजेपी को झटका! पूर्व सहयोगी ने मिलाया ओवैसी से हाथ, AIMIM यूपी में खड़े करेगी 100 प्रत्याशी

जिसपर दर्श ने कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक व्यक्ति से उनकी बात करवाई थी, जो बेहद गलत तरीके से बात कर रहा था और यह कह रहा था कि आप दर्श को कैसे रोक सकती हैं. उसकी मर्जी वह जिस मर्जी के साथ रहे. इसके बाद से ही दर्श गायब हो गया. इसके बाद वह उस कम्पनी गयीं जहाँ वह ट्रेनिंग करता था. कंपनी ने उन्हें बहुत अजीब बातें पता चलाई, उन्हें बताया गया की दर्श काम के दौरान मुस्लिम टोपी पहना था, वह नमाज भी अदा करने जाया करता था.

फेसबुक से किया जा रहा धर्म परिवर्तन

दर्श की माँ शिवानी ने बताया कि बेटे के गायब होने के बाद ओइर उसके बारे में सुनी हुई बातों पर पहले तो भरोसा नहीं हुआ लेकिन उसके बाद उन्होंने दर्श की सोशल मीडिया चेक की. जहाँ से उन्हें उसके धर्म परिवर्तन करने की जानकारी लगी. दर्श के फेसबुक पर एक महिला अक्सर उससे चैट करती थी. उस चैट वह महिला दर्श को एक तरीके से ट्यूशन दे रही थी कि किस तरीके से उसे इस्लाम धर्म स्वीकार करना है. वह दर्श को कलमा भेजती थी. नमाज कैसे पढ़नी है आदि.

18 जून 2018 को हुई आखिरी बार बात

शिवानी सक्सेना ने बताया की घर से जाने के बाद 18 जून 2018 को बहन के जन्मदिन पर उसने फोन किया था और बात करते करते रोने लगा था. जिसपर उन्होंने इउसे घर वापस आने को कहा, लेकिन दर्श ने अब न लौट पाने की बात कहकर फोन काट दिया. दर्श ने कुछ दिन बात अपने सोशल मीडिया अकाउंट का नाम भी दर्श से बदलकर रेहान कर दिया. उनसे आधार कार्ड में भी नम्बर और नाम बदलवा दिया है.

कानपुर के मूक बधिर की हुई घर वापसी: आदित्य से अब्दुल्ला अब अब्दुल्ला से बना आदित्य

इतना सबकुछ हो जाने के बाद भी आज तक पुलिस ने उनके मामले में कोई कार्रवाई नहीं की. शिवानी ने बताया कि, ‘हमने यूपी पुलिस, डीएम,एसपी के साथ-साथ मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री आदि सभी जगह पर अपनी गुहार लगाई है. लेकिन मेरी कोई सुन नहीं रहा है. मानो प्रशासन जानबूझ कर उनके मामले नहीं देख रहा हो.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -




Latest News