July 2, 2020
Headlines अंतरराष्ट्रीय

चीन को इशारों में ट्रंप की नसीहत: भारत के साथ सीमा विवाद पर पीएम मोदी हैं नाराज…

नई दिल्ली: भारत जहाँ एक ओर कोरोना वायरस महामारी से लड़ रहा है. वहीँ अपने दोनों पड़ोसी पाकिस्तान और चीन के साथ भी संघर्ष कर रहा हैं. कोरोना वायरस के दौरान चीन के साथ शुरू हुए इस सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन की सेनाओं के बीच टकराव जैसी स्थिति बनी हुई है. ऐसे में ट्रंप ने पीएम मोदी को लेकर बड़ी बात कही है.

बतादें कि दो दिन पहले भारत और चीन के मामलों में अपनी टाँग घुसाकर बिना वजह मध्यस्थता कर मामलों को सुलझाने की बात कहने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर कहा है कि भारत और चीन के बीच बनाए सीमा विवाद के कारण पीएम नरेंद्र मोदी अभी अच्छे मूड में नहीं हैं. गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि, भारत और चीन के बीच खड़े हुए सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों से कहा है कि वह इस मामले में मध्यस्थता करने को तैयार हैं. लेकिन उनके मध्यस्थता करने की बात पर गुरुवार को ही भारत की ओर से इसे भारत और चीन के का आपसी मामला बता दिया गया था.

Loading...

टला बड़ा आतंकी हमला: पुलवामा की तर्ज पर प्लांट किया गया था IED…

जिसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने एकबार फिर से कहा है कि भारत और चीन सीमा विवाद के कारण पीएम मोदी अच्छे मूड में नहीं हैं. उन्होंने कहा की मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस संबंध में बात की है लेकिन चीन के साथ बने विवाद की वजह से वह अच्छे मूड में नहीं हैं. पत्रकारों से बातचीत के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि, ‘भारत और चीन के बीच बड़ा संघर्ष चल रहा है, 1.4 बिलियन आबादी वाले 2 बड़े देश जिनकी सैन्य ताकत बेहद मजबूत है. भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी खुश नहीं है. उन्होंने आगे कहा, ‘मैं आपको बता सकता हूं कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से बात की है, लेकिन चीन के साथ अभी जो विवाद बना हुआ है, उसको लेकर वह अच्छे मूड में नहीं हैं.’ आगे ट्रंप ने कहा कि मैं आपके पीएम (नरेंद्र मोदी) को बहुत पसंद करता हूँ… वह बहुत सज्जन पुरुष हैं. दरअसल कोरोना वायरस के संकट के दौरान ही चीन ने भारत-चीन सीमाओं पर उग्र रूप अपनाया हुआ है.

अब टिड्डियों की खैर नहीं: इस देश से आएगा इन्हें मरने वाला ‘खतरनाक’ हथियार

पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना घुसपैठ ही नहीं बल्कि बड़े निर्माण कार्य या सैन्य तैयारी में लगी हुई है. इतना ही नहीं चीन ने इस इलाके में बड़ी संख्या में सेना को तैनात किया है. उनकी संख्या करीब 5 हजार बताई जा रही है. चीन की इस उग्र नीति के खिलाफ भारत ने भी सख्त रुख अपनाया है. अपुष्ट खबरों के अनुसार चीन द्वारा अपनी सेना की संख्या को बढ़ाए जाने के जवाब में भारत ने भी 5 हजार के करीब ही सेना को बॉर्डर पर तैनात कर दिया है.

पिछले ही दिनों लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं. ऐसे में भारत भी पूरी तरह से मुस्तैद है और शीर्ष स्तर पर इसको लेकर मंथन चल रहा है. सेना को बढ़ाने का फैसला पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बैठक के बाद लिया गया है. जहाँ इस मामले पर तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply