April 23, 2019
मुख्य खबरें विदेश

अमेरिका से आई भारत के लिए फिर बुरी खबर: एच-1 वीजा की संख्या हुई सीमित

वाशिंगटन: अमेरिका से भारत को एकबार फिर से बड़ा झटका लगा है. अमेरिका ने एच-1 वीजा दिए जाने की संख्या को कम कर दिया है. अमेरिका द्वारा उठाये गये इस कदम से सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को होगी जो तकनीकी क्षेत्र में रोजगार के लिए अमेरिका जाना चाहते हैं.

बतादें कि अमेरिकी प्रशासन ने गैर-प्रवासियों को दिए जाने वाले एच-1 वीजा की संख्या को सीमित कर दिया है. अब अमेरिका में एच-1 वीजा के तहत महज 65 हजार लोगों को ही लिया जायेगा. विदेशी नागरिकों को दिए जाने वाले एच-1 को लेकर अमेरिका ने वित्त वर्ष 2020 के लिए 65,000 तक सीमित कर दी है. अमेरिकी कंपनियों में रखने के लिए एच-1 बी विदेशी कर्मचारियों को दिया जाता है.

अमेरिका की तकनीकी कंपनियां भारत और चीन जैसे कई देशों से हर साल हजारों कर्मचारियों की भर्ती करने के लिए इस एच-1 पर निर्भर रहती हैं. वीजा के आवेदनों को मंजूरी देने के काम से जुड़ी संघीय एजेंसी अमेरिकी नागरिकता एवं प्रवासी सेवा (यूएससीआईएस) ने शुक्रवार को कहा, ‘उसे वित्त वर्ष 2020 के लिए कांग्रेस द्वारा एच-1बी वीजा के लिए सीमित की गई 65,000 की संख्या के लिए पर्याप्त आवेदन मिल चुके हैं.’’

Loading...

वहीँ डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के इस कदम से एच-1 वीजा की संख्या घटाई गयी है, साथ ही भारतीय और चीनी पेशेवरों को बड़ा झटका भी लगा है. दरअसल एच-1 को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहले ही से सख्त रुख अपनाए हुए हैं. वह विदेशियों को नौकरी से पहले अमेरिकी नागरिकों को नौकरी का मुद्दा चुनाव में भी उठा चुके थे.

Loading...

Related Posts