March 25, 2019
मुख्य खबरें राजनीति

‘तो 1200 करोड़ में हार्दिक पटेल को खरीदना चाहती थी बीजेपी’

गांधीनगर: गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है. कांग्रेस में शामिल होने से पहले हार्दिक पटेल ने बड़ा खुलासा करते हुए बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाया है.

Loading...

बतादें कि पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने नेशनल हेरल्ड अखबार से बातचीत करते हुए बीजेपी पर उन्हें अपने पक्ष में करने के लिए लालच देने का आरोप लगाया है. अनामत आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि जब वह सूरत जिले की लाजपुर जेल में बंद थे, तो नरेंद्र मोदी के समय गुजरात के मुख्य सचिव रहे के कैलाशनाथन जेल में उनसे मिलने आए थे. पाटीदार ने हार्दिक पटेल ने दावा किया कि कैलाशनाथन ने यह पेशकश तत्कालीन मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की तरफ से की थी. उन्होंने कहा कि, “बीजेपी चाहती थी कि मैं आरक्षण आंदोलन खत्म कर दूं, इसके बदले मुझे यह लालच दिया गया था. लेकिन मैंने इस पेशकश को फौरन ठुकरा दिया था.”

आगे उन्होंने इस बात का असबूत तक देने को कहा है. हार्दिक पटेल ने दावा किया कि किसी को अगर उनका यह दावा झूठा लगता है तो गुजरात सरकार के पास मौजूद सीसीटीवी फुटेज से इसकी जांच करा ली जाए, सबकुछ सामने आ जाएगा. दरअसल कैलाशनाथन गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय में मुख्य प्रधान सचवि के विशेष पद पर तैनात हैं. आगे मीडिया ने सवाल किया कि इतनी बड़ी रकम की पेशकश को ठुकराने का क्या कोई अफसोस है?

इसके जवाब में हार्दिक पटेल ने कहा कि, किसी व्यक्ति को कितना पैसा चाहिए होता है. उन्होंने दार्शनिक भाव से कहा, “तीन वक्त का खाना, कपड़ा…इसके लिए मेरे पास काफी पैसा है. मुझे इससे ज्यादा नहीं चाहिए. अब मैं विवाहित हूं, लेकिन तब भी मेरी जरूरतें नहीं बढ़ी हैं.” आपको जानकारी के लिए बता दें कि मंगलवार को गुजरात में कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक चल रही है. जहाँ पार्टी के सभी बड़े नेता पहुंचे हुए हैं. यहीं पार्टी प्रमुख राहुल गाँधी की मौजूदगी में हार्दिक पटेल ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है.

Loading...

Related Posts