September 18, 2019
अन्य

‘जिस गुनाह के लिए मिली 30 साल की सजा और जेल में हो गयी मौत, अब कोर्ट ने कर दिया बरी’

मुंबई: महाराष्ट्र का बहुचर्चित घोटाला यानी की स्टांप पेपर घोटाले के मामले में सोमवार को एक अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है. स्टांप पेपर घोटाले में मुख्य आरोपी कोकोर्ट ने आज बरी कर दिया है. हालाँकि मुख्य आरोपी की पहले ही मौत हो चुकी है.

बतादें कि पूरा मामला महाराष्ट्र का है. जहाँ का बहुचर्चित स्टांप पेपर घोटाले के मामले में सोमवार को नासिक की एक अदालत ने 20 हजार करोड़ रुपये के स्टांप पेपर घोटाले में दोषी करार दिए गए मृतक अब्दुल करीम तेलगी को बरी कर दिया गया है. इसके साथ ही आठ अन्य लोगों को भी बरी किया गया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्टांप पेपर घोटाले के मामले में तेलगी को 2001 में अजमेर से गिरफ्तार किया गया था. उसको 30 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई थी और वह बेंगलुरु के पाराप्पाना अग्रहारा सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था.

उस पर 202 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था. सजा के दौरान ही तेलगी की पिछले साल मौत हो गयी थी. उसके शरीर के सारे अंगों ने कम करना बंद कर दिया था. जिसके बाद उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहाँ मौत हो गयी थी. वहीँ अब मौत के करीब एक साल बाद नासिक की अदालत ने तेलगी को स्टांप पेपर घोटाले के मामले में बरी कर दिया है. साथ ही कोर्ट ने उसपर से घोटाले का केस भी हटा दिया है. सबूतों के आभाव में कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है.

 

Related Posts