April 23, 2019
अन्य मुख्य खबरें

‘पीएम मोदी ने पायजामा पहनना भी नहीं सीखा था उससे पहले नेहरू-इंदिरा ने बना दी थी फ़ौज’

नई दिल्ली: सेना को लेकर जारी बयानबाजी के बीच अब मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने बड़ा बयान दिया है, दरअसल बीजेपी द्वारा लगातार सेना के नाम को चुनाव प्रचार में भुनाया जा रहा है. जिसको लेकर कई पूर्व सैनिकों ने आपत्ति भी जताई है. उसके बाद भी सेना के नाम का उपयोग होना बंद नहीं हुआ है.

बतादें कि लोकसभा चुनाव 2019 में सत्ता के लालची नेताओं ने भारतीय सेना को भी राजनीति के खूंटे से बाँध दिया है. ऐसे में हर रोज भारतीय सेना को कुरेदने वाले बयान नेताओं द्वारा दिए जा रहे हैं. बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार सहित खुद पीएम नरेंद्र मोदी जनसभाओं में सेना के नाम पर वोट मांगते नजर आते हैं. ऐसे में कांग्रसे भी कहाँ पीछे रहने वाली थी? अब कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने भी पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा बार बार सेना के नाम पर की जा रही राजनीति को लेकर बड़ा बयान दे डाला है.

मध्य प्रदेश के हरसूद में बैतूल लोकसभा के प्रत्याशी की सभा में कमलनाथ ने कहा, ‘जब मोदी ने पेंट ओर पायजामा पहनना भी नहीं सीखा था, तब नेहरू और इंदिरा ने फौज बना दी थी. एयर फोर्स और नेवी की स्थापना कर दी थी. मोदी कहते हैं की पहले देश सुरक्षित हाथों में नहीं था, लेकिन मैं बता दूं कि सबसे ज्यादा आतंकी हमले बीजेपी की सरकार में ही हुए हैं, ये लोग सिर्फ गुमराह करने की बात करते हैं मुद्दों की बात नहीं करते.’ आगे कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस को बीजेपी ने जब सत्ता सौंपी थी, तब राज्य आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहा था. किसान आत्महत्या कर रहे थे और अपराध के मामले में राज्य देश में नंबर एक पर था.

Loading...

कांग्रेस ने सत्ता में आते ही हालात बदलने का काम शुरू किया. उन्होंने कहा कि किसानों का कर्ज माफ़ हुआ है. एमपी में कानून व्यवस्था दुरुस्त हुई है. आपको बतादें कि कुछ ही समय पहले उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में एक जनसभा के दौरान भारतीय सेना को ‘मोदी की सेना’ बता दिया था. जिसके बाद चुनाव आयोग ने भी नाराजगी जताते हुये उन्हें सोच समझकर बयान देने को कहा था.

Loading...

Related Posts