July 8, 2020
Headlines राजनीति

CAB: ट्विटर पर भिड़े मोदी के मंत्री और राहुल गांधी

डेस्क: मोदी सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन बिल को राज्यसभा से पास करवाने के दौरान भी केन्द्रीय मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी पर बड़ा हमला किया था. वहीँ अब सोशल मीडिया पर भी कांग्रेस नेता और मोदी के मंत्री के बीच काफी बहस हो गयी है.

बतादें कि मोदी सरकार ने बुधवार को नागरिकता संशोधन विधेयक राज्यसभा से पास करवा लिया है. विपक्ष की तमाम एकता के बाद भी राज्यसभा में सरकार की जीत हुई और बिना किसी बड़े विरोध के नागरिकता संशोधन विधेयक राज्यसभा से पास होकर कानून बनने की दिशा में आगे बढ़ चल है. लेकिन इसके विरोध में उतरी कई पार्टियों के सुर अभी भी काफी आक्रामक हैं.

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ SC पहुंची IUML: सिब्बल लड़ेंगे केस

ऐसी ही आक्रामकता सोशल मीडिया परे देखने को मिली है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी की इस नागरिकता संशोधन विधेयक को संविधान के खिलाफ बताया तो केन्द्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने उन्हें तीखा जवाब भी दे डाला. राहुल गांधी को जवाब देते हुए मंत्री किरण रिजिजू ने लिखा, ‘नहीं, राहुल गांधी जी. कांग्रेस पार्टी ने कानून को तोड़ते हुए सभी शरणार्थियों को असम के संरक्षित इलाकों में बसाया गया. अवैध घुसपैठियों को कांग्रेस की पॉलिसी की वजह से ही नॉर्थ ईस्ट में जगह मिली. आपके ब्लंडर को सही किया जा रहा है. अब संरक्षित स्थान पर शरणार्थी नागरिक नहीं बन सकते हैं.’ इससे पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा था कि, ‘नागरिकता बिल से मोदी-शाह की सरकार ने पूर्वोत्तर की पहचान को मिटाने का प्रयास किया है. यह पूर्वोत्तर के लोगों के जीवन जीने के तरीके और भारत के विचार पर एक आपराधिक हमला है.

Loading...

CAB के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची याचिका, भेदपूर्ण बताकर रद्द करने की मांग

मैं पूर्वोत्तर के लोगों और उनकी सेवा के लिए तत्पर हूं.’ भले ही राजनीतिक तौर पर बीजेपी ने कांग्रेस सहित समूचे को आईना दिखाकर राज्यसभा से बिल पास करवा लिया हो लेकिन अभी बीजेपी के लिए राह आसान नहीं है. इस नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ पूरा पूर्वोत्तर खड़ा हो गया है. पूर्वोत्तर के राज्यों में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

CAB: संसद से सड़क तक संग्राम, असम में स्टेशन फूंकी, उड़ाने भी रद्द  

असम के कई इलाकों में कर्फ्यू तक लगाना पड़ा है. असम और त्रिपुरा में असम राइफल को कानून व्यवस्था बनाने रखने के लिए उतारा गया है. जबकि असम को जाने वाली दर्जनों ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है. प्रदर्शन के कारण हवाई उड़ाने भी प्रभावित हुई हैं.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply