January 19, 2020
राष्ट्रीय

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बोला कुछ ऐसा: ख़ुफ़िया एजेंसियों पर खड़े हो गये सवाल

डेस्क: जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक पिछले कुछ दिनों से लगातार चर्चा में बने हुए हैं. कारण है कि उनके बयानों के जरिये वह मीडिया में छाये हुए हैं. ऐसे में ही कुछ राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बयान दिया है.

बतादें कि बयान देने के बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक को अपने दिए गये बयान पर सफाई भी देनी पडती है. यह बात उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कही थी. लेकिन उनके ऐसा बोलने के बाद उन्होंने इसबार देश की ख़ुफ़िया एजेंसियों को ही निशाने पर ले लिया है.

सत्यपाल मलिक एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे. जहाँ उन्होंने कहा ख़ुफ़िया एजेंसी सच नहीं बताती हैं, ना यहां और ना दिल्ली को. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा, ‘मैंने आने के बाद जो इंटेलिजेंस एजेंसी हैं उनसे कोई इनपुट नहीं लिया, वह सच नहीं बताते ना दिल्ली को और ना हमको, मैंने 150-200 बच्चे, ये पता किया कि यूनिवर्सिटी में कौन राष्ट्रगान पर खड़े होते हैं. उनको बुलवाया, उनसे बात की और उन्होंने बता दिया.’ आगे सत्यपाल मलिक ने कहा, ‘सारी दिक्कत 13-30 उम्र तक के बच्चों की है, जिनके सपने तोड़े गए हैं जिनको नाराज किया गया है.

Loading...

उन्होंने कहा कि ना हमें हुर्रियत चाहिए, ना दिल्ली चाहिए, हमको ये कहा जा रहा है कि जन्नत मिलेगी, शहीद होगे तो जन्नत मिलेगी.’ आगे राज्यपाल मलिक ने कहा, ‘मैंने उनसे कहा कि अगर ये तुम्हारा धार्मिक मामला है, तो मैं कुछ नहीं कहूंगा. मैं तुम्हें जन्नत देने को तैयार हूं, एक वो जहां जहांगीर ने घोड़े से उतरकर कहा था कि जन्नत है तो यहीं है, दुनिया का सिरमौर बना सकते हो इसको. यकीन करने वाले अच्छे मुसलमान के तौर पर मरोगे तो दो जन्नत तुम्हारे हक में आएंगी.’ बतादें कि मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान मलिक ने कहा था कि कई बार उन्हें अपने बयानों पर सफाई देनी पड़ती है. वह कुछ ऐसा बोल जाते हैं. जिसका लोग गलत मतलब निकाल लेते हैं.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply