July 6, 2020
Headlines राजनीति

चीन मुद्दे पर पीएम मोदी से हुई बात: ट्रंप फिर बोले झूठ-विदेश मंत्रालय ने बताई सच्चाई

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से वार्ता के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत को लेकर बड़ा झूठ बोला है. दरअसल चीन के साथ भारत का बढ़ते विवाद को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया था की इस मुद्दे पर उनकी पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत हुई है. लेकिन इस कथित बातचीत को लेकर भारती विदेश मंत्रालय ने बड़ा बयान जारी किया है.

बतादें कि भारत और चीन के बीच कोरोना वायरस महामारी संकट के दौरान सीमा पर सैन्य टकराव जैसी स्थिति बनी हुई है. ऐसे में पिछले तीन दिनों से अमेरिका के राष्ट्रपति भी इस मामले में कूदे चुके हैं और लगातार बयानबाजी कर रहे हैं. बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट कर दोनों देशों के बीच जारी विवाद पर मध्यस्थता करने की पेशकश की.

जिसकी हत्या के मामले में दो साल की जेल हुई-टूट गया परिवार: वह ‘मृतक’ ज़िंदा घर लौटा…

उसके बाद भारत ने उनकी मध्यस्थता के ऑफ़र को ठुकरा दिया और कहा की भारत चीन के साथ खुद इस मुद्दे पर बातचीत कर रहा है और इसे जल्द सुलझाएगा. लेकिन ट्रंप ने फटे में टाँग घुसाए रखने की पुरानी आदत है ऐसे में उन्होंने गुरुवार को व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर नया दावा कर डाला. गुरुवार को राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि इस (भारत-चीन सीमा विवाद) मामले पर उनकी बातचीत पीएम मोदी से हुई है.

Loading...

बेटा-तुम बंबई से कभी लौट कर मत आना: हमने तुम्हारी हत्या के केस में पड़ोसियों को जेल भिजवा दिया है…

ट्रंप द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत के दावे को लेकर अब भारतीय विदेश मंत्रालय ने बड़ा बयान दिया है. पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच हाल में कोई बातचीत नहीं हुई है. विदेश मंत्रालय के हवाले से बताया गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच इस महीने कोई भी बातचीत नहीं हुई है.

चीन को इशारों में ट्रंप की नसीहत: भारत के साथ सीमा विवाद पर पीएम मोदी हैं नाराज…

मंत्रालय ने बताया है कि दोनों नेताओं के बीच आखिरी बार हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन के मामले पर बातचीत हुई थी. ऐसे में राष्ट्रपति ट्रंप का पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत करने का दावा गलत साबित हो चुका है. यह कोई पहला मौक़ा नहीं है जब पीएम मोदी को लेकर राष्ट्रपति ट्रंप ने कोई भ्रामक दावा किया हो. इससे पहले कह्स्मिर मुद्दे पर भी मध्यस्थता को लेकर भी उन्होंने भ्रामक दावा किया था.

राष्ट्रपति ट्रंप ने क्या कहा    

गुरुवार को व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में ट्रम्प ने कहा कि भारत और चीन के बीच बड़ा टकराव चल रहा है. उन्होंने कहा, ‘भारत में मुझे पसंद किया जाता है. मुझे लगता है कि इस देश में मीडिया मुझे जितना पसंद करता है उससे कहीं अधिक पसंद मुझे भारत में किया जाता है और मैं मोदी को पसंद करता हूं. वह बहुत ही सज्जन पुरुष हैं.’ आगे उनसे पूछे जाने पर कि क्या वह भारत और चीन के बीच सीमा पर बने हालात से चिंतित हैं, इस पर राष्ट्रपति ने कहा, ‘भारत और चीन के बीच बड़ा टकराव है. दो देश और प्रत्येक की आबादी 1.4 अरब. दो देश जिनके पास बहुत शक्तिशाली सेनाएं हैं. भारत खुश नहीं है और संभवत: चीन भी खुश नहीं है.’ ट्रंप ने कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री मोदी से बात की. चीन के साथ जो भी चल रहा है वह उससे खुश नहीं हैं.’’ इससे एक दिन पहले उन्होंने भारत और चीन के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply