Thursday, July 29, 2021

सरकार ने खोला खजाना: Covid से तबाह हुए सेक्टरों को लोन की गारंटी-आप भी कर सकते आवेदन

राष्ट्रीय

कोरोना की पहली और दूसरी लहर में तबाह हो चुके कई क्षेत्रों को भारत सरकार ने मदद का भरोसा देते हुए 1.1 लाख करोड़ के आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा की है. इस में कोरोना से प्रभावित क्षेत्रों को सरकार बिना गारंटी के लोन मुहैया करवाएगी.

सोमवार को केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़े आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा की है. सरकार ने इसमें करीब 1.1 लाख करोड़ का बजट रखा है. इस बजट से पिछले कोरोना वायरस के दौरान लगाए हुए लॉकडाउन में तबाह हुए तमाम सेक्टर्स को मदद दी जायेगी.

12-18 वर्ष वालों को इस महीने से लगनी शुरू होगी वैक्सीन: कोविड वर्किंग ग्रुप ने दी जानकारी

यह मदद लोन के रूप में होगी. जहाँ सरकार हेल्थ, पर्यटन और एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) को बिना गारंटी के लोन के लोन मुहैया करवाएगी. इस योजना के तहत 50 हज़ार करोड़ रुपये की लोन गारंटी हेल्थ सेक्टर को, जबकि 60 हज़ार करोड़ रुपये अन्य सेक्टरों को दी जा रही है. साथ ही 100 करोड़ तक का लोन 7.95 फीसद ब्याज पर दिया जाएगा. जबकि अन्य क्षेत्रों के लिए ब्याज दर 8.25% से ज्यादा नहीं होगी. जिससे लोन का बोझ भी ज्यादा न बने.

सरकार की यह 3 साल के लिए क्रेडिट गारंटी योजना है. इसके अलावा कोरोना काल में तबाह हो चुके पर्यटन क्षेत्र को भी सरकार ने ध्यान में रखते हुए मदद करने का फैसला किया है. इसके तहत सरकार 11 हजार टूरिस्ट गाइड को मदद देगी.

2022चुनाव: नीतीश की जेडीयू को यूपी में भी चाहिए ‘हिस्सेदारी’, योगी आदित्यनाथ से की बातचीत

मदद में गाइड को 1 लाख रुपए तक का लोन मिलेगा. जबकि ट्रैवल एजेंसियों को 10 लाख रुपये तक का कर्ज देने की व्यवस्था की गयी है. पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिले इसके लिए सरकार ने कोरोना के कारण लगाए गये प्रतिबंधों को ख़त्म होने के बाद भारत की यात्रा पर आने वाले पहले पांच लाख यात्रियों को वीजा फीस में भी छूट देगी. इसमें एक टूरिस्ट एक बार ही इस सेवा का लाभ ले पायेगा.

सरकार नहीं अब भारत से लड़ रहा है ट्विटर: अपने MAP में जम्मू कश्मीर को बता दिया अलग देश

सरकार ने एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) के तहत काम करने वाले 25 लाख छोटे व्यापारियों को कर्ज देने का प्रबंध किया है. इन्हें बिना गारंटी के लोन उपलब्ध करवाया जाएगा. निर्मला सीतारमण के अनुसार, ‘छोटे व्यापारी क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत इंडिविजुअल NBFC  माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूट से 1.25 लाख रुपये तक का लोन ले पाएंगे. लोन पर बैंक के MCLR पर अधिकतम 2 फीसदी ब्याज जोड़कर लिया जा सकेगा. इस लोन की अवधि 3 साल होगी. सरकार का लक्ष्य है कि छोटे व्यापारियों तक मदद पहुंचे.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -




Latest News