May 23, 2019
अन्य मुख्य खबरें

‘महिलाओं के नाम पर क्यों पड़ता है तूफ़ान का नाम’

डेस्क: फानी तूफ़ान कुछ ही देर में भारत के पूर्वी तटों से टकराने वाला है. इसके टकराने का समय 10-12 बजे के बीच का है. वहीँ जिस फानी के कारण भारत के कम से कम तीन राज्यों में दहशत का माहौल है उस का नाम फानी क्यों पड़ा यह भी आपको जानना चाहिये.

बतादें कि फानी शब्द का मतलब सांप या ऐसी चीज से होती है कि लहरों के साथ साथ भयावह प्रदर्शित होती है. जिसके कारण ही इस तूफ़ान को फानी नाम दिया गया है. अब सवाल है कि यह नाम किसने और क्यों दिया है? इसका सीधा जवाब है कि तूफ़ान जिस क्षेत्र से उठता है वह की क्षेत्रीय एजेंसी या देश ही तूफ़ान का नाम चुनते हैं. यह चक्रवाती तूफ़ान फानी उत्तर हिंद महासागर में उठ रहा है.

जिसमें भारत, श्रीलंका, बांग्लादेश, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान और थाईलैंड आदि देश आते हैं. ऐसे में यही देश तूफ़ान का नाम एक क्षेत्रीय समिति को भेजते हैं. हर देश आठ नाम तक भेजता है. जिसके बाद समिति नामों का चयन करती है. इसबार फानी नाम बांग्लादेश द्वारा सुझाया गया था. वहीँ आपको जानकारी के लिए यह भी बतादें कि प्रत्येक तूफ़ान के नाम को यह प्रक्रिया के तहत रखा जाता है.

Loading...

इसके लिए यूएन की वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाजेशन के नियमों को फॉलो किया जाता है. साल में पहले तूफ़ान को A नाम दिया जाता है फिर दूसरे को भी यही क्रम चलता है. यहाँ एक बात का यह भी ख़याल रखा जाता है कि ईवन नंबर वाले साल (जैसे 2018) में आने वाले तूफ़ान का नामकरण मेल नेम से होता है जबकि ऑड साल (जैसे 2019) में आने वाले तूफ़ान का नाम फीमेल (महिलाओं) के नाम पर किया जाता है.

Loading...

Related Posts