Thursday, April 15, 2021

किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे: न सरकार पीछे हटी न किसान

राष्ट्रीय

Farmers Protest 100 day complete Live Update:  केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाये गये तीन क्रश कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन अभी भी जारी है. सरकार के इन कृषि कानूनों के खिलाफ राजधानी दिल्ली में किसानों के चल रहे आंदोलन के 100 दिन पूरे हो गये हैं. इस मौके पर किसानों ने चक्का जाम का ऐलान किया है.

बतादें कि शनिवार को राजधानी दिल्ली के कई बॉर्डर्स पर किसानों का हुजूम फिर से बढ़ गया है. कारण यह है कि किसानों द्वारा शुरू किये गये इस आंदोलन को 100 दिन हो गये हैं. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ शुरू हुए शाहीन बाग़ की तरह ही यह आंदोलन भी अबतक का लम्बे समय तक चलने वाला आंदोलन बन गया है. वहीँ आज आंदोलन के 100 दिन पूरे होने पर किसानों ने चक्का जाम का एलान किया है.

जिससे राजधानी दिल्ली समेत हरियाणा के कई बॉर्डर्स पर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. आज किसान कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरे किसानों ने विरोध स्वरुप काली पट्टी बांधकर विरोध करने का फैसला किया है. गाजीपुर किसान मोर्चा के नेता जगतार सिंह बाजवा ने बताया कि शनिवार को किसान एक्सप्रेस-वे पर सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच चक्का जाम करेंगे. इस चक्का जाम में में गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसानों के अलावा डासना और उसके आसपास के क्षेत्रों के किसान प्रमुखता से शामिल होंगे. किसानों के चक्का जाम के ऐलान के बाद सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है.

स्टारकास्ट ‘ANIMAL’ के लिए इंतेजार करना होगा 2 साल: नजर आएंगे यह कलाकार

कारण है राजधानी में 26 जनवरी को हिंसा. तब भी किसानों ने सिर्फ मार्च और प्रदर्शन के नाम पर हिंसा और उत्पात मचाया था, जिसको लेकर अभी भी जांच चल रही है. ऐसे में पुलिस जरा भी कोताही नहीं बरतनी चाहती है. जिससे कहीं भी माहौल बिगड़े या किसी तरह का बवाल हो. किसानों के चक्का जाम को लेकर केएमपी-केजीपी एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गयी है. एसपी दीपक गहलावत ने बताया कि धरना स्थल पर डीएसपी विजयपाल जबकि केएमपी और केजीपी एक्सप्रेसवे पर डीएसपी सतेन्द्र व डीएसपी यशपाल पुलिस बल के साथ मौजूद रहेंगे.

JIO का ‘JIO धमाका’: 22 रुपए में 2GB डाटा और 28 दिन की वैलिडिटी

चक्का जाम को देखते हुए आरएएफ व अर्ध सैनिक बलों को भी तैनात किया गया है. पुलिस ने फरीदाबाद से आते समय गदपुरी बॉर्डर, दुधौला मोड़, करमन बॉर्डर, बाबरी मोड़, असावटा मोड़, आगरा चौक पर कड़ी सुरक्षा और नाकेबंदी करने का प्लान तैयार किया है. जहाँ जहाँ चक्का जाम कर किसानों का हुजूम जमा होने की संभावना है वहां वहां वीडियोग्राफी भी करवाई जाएगी.

कई रूट डायवर्ट

किसानों के चक्का जाम को देखते हुए फरीदाबाद में आठ स्थानों पर रूट डायवर्ट किया जाएगा. जिसमें नेशनल हाइवे पर दुधौला मोड़, दिल्ली गेट, आगरा चौक, रहराना मोड़, बाबरी मोड़ के साथ-साथ केएमपी-केजीपी के एक्सचेंज पॉइंट से वाहनों को डायवर्ट किया जाएगा. जबकि केएमपी पर आने वाले भारी वाहनों को नूंह बॉर्डर, केजीपी से आने वाले भारी वाहनों को फरीदाबाद बॉर्डर और नेशनल हाइवे पर करमन और गदपुरी बॉर्डर पर ही रोक लिया जाएगा.

चीन हैकिंग के जरिये चुराना चाहता है Covid वैक्सीन का तोड़….

आपको जानकारी हो कि किसानों के चल रहे इस आंदोलन को 100 दिन पूरे हो गए. किसान और सरकार दोनों ही पीछे हतं एको राज़ी नहीं हैं. उधर 100 दिन पूरे होने पर किसानों ने स्पष्ट कर दिया है कि कृषि कानून वापस और एमएसपी गारंटी के बिना वह आंदोलन ख़त्म नहीं करेंगे.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News