Thursday, July 29, 2021

कहीं थम न जाएँ साँसें इसलिए बिना ब्रेक लिए ऑक्सीजन उत्पादन में जुटे ‘साँसों के योद्धा’…

राष्ट्रीय

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद देश में ऑक्सीजन की किल्लत ने सरकार से लेकर कोर्ट को इस मामले में सोचने पर विवश कर दिया है. ऐसे में जब तक सरकार को ऑक्सीजन मामले में होश आया तब तक कई लोगों की साँसें ही थम चुकी थी. ऑक्सीजन किल्लत की हाहाकार के बीच सरकार ने आनन् फानन में देश और विदेश से ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए जरूरी कदम उठाये. जिसके बाद देश में ही कई जगह पर प्लांट्स में दिन रात ऑक्सीजन उत्पादन का काम जारी है.

झारखंड के बोकारो स्थित स्टील प्लांट में ऑक्सीजन बनाने की प्रक्रिया तेज कर दी गयी. यहाँ “साँसों के योद्धाओं” ने देश में ऑक्सीजन संकट को देखते हुए बिना ब्रेक लिए आठ घंटे काम कर रहे हैं. बोकारो सेल में 25 अधिकारी और 145 कामगार दिन रात ऑक्सीजन उत्पादन में लगे हैं.

ट्रोलर ने ब्रेस्टफीडिंग का वीडियो माँगा तो एक्ट्रेस नेहा धूपिया ने कर दी बोलती बंद

यहां से हर दिन 150 टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है. बोकारो और भिलाई दोनों प्लांट्स से एमपी और यूपी तक ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है. आठ घंटे की शिफ्ट के दौरान “सांसों के योद्धा” यानी की कामगार बिना ब्रेक लिए ऑक्सीजन के उत्पादन कर रहे हैं.

HC की फटकार के बाद चुनाव आयोग की टूटी नींद: मतगणना के दिन को लेकर लिया बड़ा फैसला 

इस दौरान उनके लंच बॉक्स भी वैसे ही रखे रहते हैं. ऑक्सीजन प्लांट्स में काम करने वाले कामगार ने बताया कि देश में ऑक्सीजन की किल्लत के बाद उत्पादन का कार्य बढाया गया है. हम लोग लगातार उत्पादन कर रहे हैं. जिससे अस्पतालों में समय से ऑक्सीजन पहुंच सके.

Corona से बेबस सरकार: घर पर भी MASK लगाने की अपील, मेहमान-मिलने जुलने वालों से बनाएं दूरी  

बोकारो सेल के आंकड़े के अनुसार अप्रैल महीने में अभी तक उत्तर प्रदेश को 456 मिट्रिक टन, बिहार को 374 मिट्रिक टन, झारखंड को 308 मिट्रिक टन  ऑक्सीजन की सप्लाई भेजी जा चुकी है. इसके अलावा भी कई राज्यों को ऑक्सीजन भेजी जा रही है.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -




Latest News