Friday, September 24, 2021

ममता कर रहीं हैं हमले का ड्रामा: बीजेपी नेता ने की सीबीआई जांच की मांग

राष्ट्रीय

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस पार्टी की प्रमुख ममता बनर्जी पर हुए कथित हमले को लेकर मुख्य विपक्षी पार्टी ने बीजेपी ने इस नाटक बताया है. बुधवार को नंदीग्राम में नोमिनेशन फाइल करने के बाद रोड शो के दौरान सीएम ममता बनर्जी को धक्का दिए जाने का आरोप लगा था. इस धक्के में सीएम ममता बनर्जी को काफी छोटे आयीं हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ गया.

नंदीग्राम में बुधवार को पर्चा दाखिल करने के बाद एक रोड शो के दौरान सीएम ममता बनर्जी का पैर गाड़ी के नीचे आ गया था. जिसमें उनके पैर में काफी चोट आई है. इसको लेकर बुधवार को ही तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगा दिया था. तृणमूल कांग्रेस पार्टी द्वारा इस हमले में बीजेपी के लोगों के शामिल होने का आरोप लगाया था. उधर बीजेपी पर लगे आरोपण को लेकर बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि, ‘मैं 6 साल से बंगाल में राजनीति कर रहा हूं.

अस्पताल में भर्ती हुईं ममता बनर्जी: मिली गंभीर चोटें-सीएम के सभी कार्यक्रम स्थगित

जिस प्रकार से वह पुलिस से घिरी होती हैं, उनके कार्यकर्ताओं के ऊपर भी कोई हमला नहीं करता है, ऐसा वहां माहौल है. पुलिस और अपराधियों का वहां नेक्सस काम करता है. हालांकि अगर ऐसा हुआ है तो मैं चुनाव आयोग से अनुरोध करूंगा कि सीबीआई जांच होनी चाहिए. यदि हमला हुआ है तो कड़ी सजा मिले. पर मैं दावा करता हूं कि यह सहानुभूति बटोरने के लिए नौटंकी है. बीजेपी नेता ने कहा कि सीएम ममता बनर्जी जानती हैं राज्य से उनके जाने का समय आ गया है, ऐसे में वह सहानुभूति के जरिये चुनाव जीतने का सपना देख रहीं हैं.

अपनों के सहयोग और खुद की मेहनत से मिलती है सफलता – रेशमा दास

आपको जानकारी के लिए बतादें कि बुधवार को नंदीग्राम में एक रोड शो के दौरान सीएम ममता बनर्जी के साथ हादसा हो गया था. उनका पैर गाड़ी के नीचे आ गया था. जिससे वह घायल हो गयीं. वहीँ इस हादसे को लेकर सीएम ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि उन्हें किसी ने धक्का दिया. तृणमूल कांग्रेस पार्टी के अनुसार उनके काफिले में चार से पाँच अज्ञात लोग शामिल हुए जिन्होंने करीब आकर सीएम ममता बनर्जी को धक्का दे दिया.

किसानों के मुद्दे पर मोदी सरकार की आसान नहीं होगी राह: कांग्रेस ने बनाया G-23 नेताओं के साथ प्लान  

जिससे वह गाड़ी के नीचे जाती जाती बचीं. हालाँकि ऐसे में सवाल यह भी है कि सैकड़ों सुरक्षकर्मियों और पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच घिरी ममता बनर्जी तक कोई बाहरी कैसे पहुँच गया. फिलहाल स्थानीय लोगों की माने तो वह मजाह एक हादसा था जिसे साजिश का रूप देने की कोशिश की जा रही है.

देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें.

- Advertisement -

More Article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -




Latest News