July 6, 2020
Headlines राष्ट्रीय

निर्भया गैंगरेप: कोर्ट ने अगले आदेश तक लगाई गुनहगारों की फांसी पर रोक

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने निर्भया के गुनहगारों को कल होने वाली फांसी पर एकबार फिर से रोक लगा दी है. कोर्ट ने फांसी पर रोक लगाते हुए कहा है कि अगले आदेश तक इन्तजार करें. कोर्ट में निर्भया के दोषी विनय की याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने यह फैसला लिया है.

बतादें कि निर्भया के गुनाहगार लगातार कानून कानून खेलने में लगे हुए हैं. पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के गुनाहगारों के लिए एक फरवरी का डेथ वारंट जारी किया था. जिसपर एकबार फिर से रोक लगा दी गयी है. शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत में सुनवाई के बाद कोर्ट ने आगामी आदेश तक डेथ वारंट पर रोक लगा दी है. दरअसल पटियाला हाउस कोर्ट ने ही पिछले दिनों दूसरी बार निर्भया के गुनहगारों को 1 फरवरी का डेथ वारंट जारी किया था.

India VS New Zealand T20: सुपर ओवर में इंडिया की सुपर जीत, सीरीज में बनाई 4-0 से बढ़त

Patiala house court hear Nirbhaya case convict vinay hanging petition

Loading...

जिसके बाद चारों दोषियों को कल यानी की शनिवार को सुबह फांसी दी जानी थी, लेकिन कोर्ट ने निर्भया के एक दोषी विनय ने फांसी पर रोक लगाने की मांग करते ही याचिका लगाई कि उसकी दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है. ऐसे में उसे फांसी नहीं दी जा सकती है. जिसके बाद वकील ने यह भी कहा कि निर्भया गैंगरेप के दोषियों को अलग अलग फांसी नहीं दी जा सकती है. ऐसे में अब कोर्ट ने फांसी पर आगामी आदेश तक के लिए रोक लगा दी है. सुनवाई के दौरान तिहाड़ के वकील ने कहा कि विनय इंतजार कर सकता है, लेकिन बाकी तीन दोषियों को कल फांसी दी जाये. तिहाड़ के वकील ने कहा कि जिसकी दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है, उसे छोड़कर बाकी तीन को कल यानी 1 फरवरी को फांसी दी जाए, लेकिन कोर्ट ने सभी दोषियों को एक साथ फांसी देने के लिए फिलहाल फांसी की सज़ा पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी है.

मोदी के बचाव में उतरे सीएम केजरीवाल: PAK मंत्री की कर दी बोलती बंद-कहा वह मेरे पीएम हैं…

आपको जानकारी के हो कि पटियाला हाउस कोर्ट ने 17 जनवरी को निर्भया के चारों दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय का डेथ वारंट जारी किया था. जिसमें एक फरवरी को सुबह छह बजे तिहाड़ जेल में उन्हें फांसी देने का आदेश दिया गया. उधर शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने पवन गुप्ता की पुनर्विचार याचिका को भी खारिज कर दिया है. जिसमें उसने गैंगरेप के दौरान खुद को नाबालिग बताया था.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply