March 25, 2019
अन्य मुख्य खबरें

शर्मनाक: शेल्टर होम से आई अवि​वाहित नेशनल खिलाड़ी ने दिया दिया बच्चे को जन्म

भोपाल: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से एक बेहद चौंका देने वाला मामला सामने आया है. बता दें कि राजधानी भोपाल के वॉटर स्पोर्ट एकेडमी में एक अविवाहिता खिलाड़ी ने बच्चे को जन्म दिया है. जिससे पूरे खेल महकमें हड़कंप मच गया है. हालांकि जैसे ही घटना सामने आई तो तो पूरा का पूरा महकमा जांच में जुट गया है.

Loading...

बता दें कि महिला खिलाड़ी मध्यप्रदेश के कटनी की रहने वाली है, और पीड़िता के माता पिता की मौत हो चुकी है. मौजूदा समय में यह खिलाड़ी भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में खेल अकादमी के हॉस्टल में रह रही है. वहीं इस घटना के सामने के आने के बाद प्रशासन भी सख्त हो गया है और खेल विभाग के प्रमुख सचिव अनिरूद्ध मुखर्जी ने मामले की जांच का आदेश दिया है.

क्या है पूरी घटना?

जानकारी के मुताबिक खिलाड़ी भोपाल के बड़े तालाब में खेल की प्रैक्टिस के लिए गई थी. वहीं पर  पीड़िता के पेट में दर्द होने लगा इसके बाद पीड़िता को आनन फानन में अस्पताल में ले जाय़ा गया. जहां पर अविवाहित लड़की ने प्री मैच्योर बच्चे को जन्म दिया है. इसके बाद खबर जैसे ही मीडिया में आई तो पूरे खेल महकमें हड़कंप मच गया. अविवाहित लड़की द्वारा बच्चे को जन्म दिए जाने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने फौरन इसकी जानकारी टीटी नगर पुलिस थाने को दी और इसके बाद पुलिस ने लड़की का बयान करके मामले को दर्ज कर लिया है. ध्यान देने वाली बात तो यह है कि  इसके पहले यह लड़की कटनी के शेल्टर होम में रहती थी और माता पिता की मौत के बाद इसको भोपाल शिफ्ट कर दिया गया था. उसे वॉटर स्पोर्ट्स एकेदमी के हॉस्टल में रखा गया था. पता चला है कि ये सेलिंग खिलाड़ी सात महीने के गर्भ से थी.

कोच समेत शेल्टर होम के कर्मचारी जांच के दायरे में

अब चुंकि यह मामला तूल पकड़ लिया है और मीडिया में इस खबर को प्रमुखता से दिखाया जा रहा है तो पुलिस से पूरा विभाग इस वक्त सकते में आ गया है और इस अब शेल्टर होम से लेकर खेल विभाग तक सवालों के घेरे में है. अब खेल विभाग के सचिव ने कहा है कि इस मामले में कोई भी दोषी होगा उसको उसके किए की सजा जरूर मिलेगी. उन्होने कोच समेत शेल्टर होम के कर्मचारियो के जांच के आदेश दे दिया है कि इनसे पता लगाया जाए कि अविवाहित लड़की गर्भवती कैसे हो गई और इसकी जानकारी को छुपाया क्यों गया? इस जांच  की आंच में कई अधिकारी भी आ सकते हैं. क्योंकि इतनी सुरक्षित जगह में इस तरह की घटना हो जाना पूरे के पूरे सिस्टम को सवालों के के घेरे में खड़ा करती है.

रिपोर्ट:-भास्कर तिवारी

Loading...

Related Posts