November 13, 2018
Uttar Pradesh

राम जन्मभूमि: SC में सुनवाई टलने पर CM योगी का बड़ा बयान, कहा देर से मिला न्याय…

लखनऊ: अयोध्या में विवाद राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई जनवरी 2019 तक के लिए टल गयी है. सोमवार कोई सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई टलने के बाद से अभी तक कई नेतओं की प्रतिक्रया आ चुकी है. इसी बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी बड़ा बयान दिया है.

बतादें कि एक मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट में योधा में विवादित राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई टलने को लेकर बयान दिया है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि समय पर मिला न्याय, उत्तम न्याय होता है, जबकि देर से मिला न्याय, अन्याय के समान है.

राहुल गाँधी ने CM के बेटे पर लगाया था झूठा आरोप, 24 घंटे के अंदर ही मान ली गलती…

उन्होंने कहा कि इस विवाद का जल्द से जल्द समाधान बेहद जरूरी है. आगे सीएम योगी ने कहा है कि समय पर मिला न्याय, न्याय माना जाता है. देर से मिला न्याय कभी-कभी अन्याय के समान हो जाता है. इस देश का बहुसंख्यक समाज चाहता है कि यथाशीघ्र राम जन्मभूमि विवाद का समाधान निकले. दंतेवाड़ा: मीडिया की टीम पर नक्सल हमला, कैमरामैन सहित तीन की मौत

मालेगांव ब्लास्ट: साध्वी प्रज्ञा, कर्नल पुरोहित सहित सात पर आतंकी साजिश का आरोप तय

उन जनभावनाओं का सम्मान होना चाहिए. सीएम योगी ने कहा कि हमें न्यायपालिका में भरोसा है. न्याय में देरी से लोगों में निराशा होती है. हम इसके विचार विमर्श में लगे हुए हैं. हम भी संविधान से बंधे हुए हैं. व्यापक आस्था का सम्मान होना चाहिए. वहीँ आगे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संत समाज को धैर्य रखने की जरूरत है.

डेनिश मॉडल की हॉट तस्वीरें, देख कर कोई भी हो जाएगा दीवाना

हम आगे विचार विमर्श में लगे हुए हैं. दरअसल सोमवार को राम जन्मभूमि विवाद मामले को लेकर लगातार सुनवाई शुरू होनी थी, लेकिन कोर्ट ने तीन मिनट की कर्यवाही के बाद इसे तीन माह के लिए टाल दिया. अब कोर्ट में इस मामले की सुनवाई जनवरी 2019 में होने की संभावना है. तो दूसरी ओर सुनवाई टलने के बाद संत समाज के साथ साथ बीजेपी के कई नेता सरकार ने मंदिर निर्माण को लेकर कानून लाने की मांग कर चुके हैं.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *