November 13, 2018
Badi khabren Videsh

अमेरिका, भारत पर लगाने जा रहा है प्रतिबंध, चौपट हो सकता है…

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा भारत सहित आठ देशों को ईरान से तेल खरीदने पर छूट या राहत देने के बाद अब खबर आ रही है कि अमेरिका इसके बाद भी भारत पर कुछ प्रतिबंध भी जड़ने वाला है. आखिरी वह कौन से प्रतिबंध हैं जिनसे भारत का सामना होगा? और इसका हमारे देश पर क्या प्रभाव हो सकता है?

बतादें कि तेल खरीद में राहत के बाद भी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का रुख भारत को लेकर अभी भी सख्त बना हुआ है. यह बात उनके ट्वीट से पता चली थी. शुक्रवार रात 9 बजे ट्रंप ने एक ट्वीट कर जाहिर कर दिया है कि अमेरिका सख्त प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर रहा है. पहले अमेरिका चाहता था कि भारत सहित अन्य देश 4 नवंबर को ईरान से तेल खरीदना पूरी तरह बंद कर दें. लेकिन ऐसा होना संभव नहीं था. भारत की अपनी कुछ नीति और जरूरते हैं. जिसके बाद आखिरकार अमेरिका को कुछ देशों को ईरान से तेल खरीदने पर छूट देनी ही पड़ी.


राम मंदिर: शिवसेना ने कहा, तो ‘मोदी सरकार गिरा क्यों नहीं देते’…

दरअसल 5 नवंबर से ईरान पर अमेरिका के प्रतिबंध लागू हो जायेगे. लेकिन राहत के बाद भी ट्रंप सख्त रुख अपनाए हुए हैं. ट्रंप की ओर से किए गए एक ट्वीट से ऐसा ही नजर आ रहा है. राष्ट्रपति ट्रंप ने अपना एक पोस्टर ट्वीट किया है जिसमें लिखा है, ‘प्रतिबंध लागू हो रहे हैं, 5 नवंबर’. ट्रंप के ट्वीट से साफ है कि अगले 2 दिनों में वो प्रतिबंधों को लेकर कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ दिन पहले ही ईरान प्रतिबंध के हवाले से पूरी दुनिया को धमकी देते हुए कहा था कि 4 नवंबर के बाद अगर कोई देश ईरान से कच्चा तेल खरीदता है तो हम सख्त से सख्त कदम उठाने के लिए तैयार हैं.

ट्रंप ने ईरान से कच्चा तेल आयात को लेकर चेतावनी देते हुए कहा था कि 4 नवंबर तक ईरान से कच्चे तेल का आयात घटाकर शून्य नहीं करने वाले ‘देशों को भी अमेरिका देख लेगा’. अमेरिका ईरान के परमाणु समझौते से बाहर हो चुका है. जिसके बाद से वह ईरान पर प्रतिबंध लगा रहा है. ईरान का मुख्यता आय का श्रोत तेल ही है.

शादी से पहले देशी गर्ल का हॉट लुक, देख कर हो जाएंगे बेहाल

ऐसे में उसके साथ तेल व्यापार करने वाले देशों को भी प्रतिबंधित करने की मंशा पर कई देशों ने नाराजगी जताई थी. वहीँ अगर अमेरिका भारत पर प्रतिबंध भी लगाता है तो उसे भी बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा. क्योंकि भारत रूस के बाद अमेरिका से भी बड़े स्तर पर हथियारों की खरीद करता है.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *