November 13, 2018
Others

राम मंदिर: शिवसेना ने कहा, तो ‘मोदी सरकार गिरा क्यों नहीं देते’…

मुंबई: राम मंदिर के मुद्दे पर आरएसएस का रुख लगातार बदल रहा है. कभी तो सरकार को अध्यादेश लाने को कहा जा रहा है, लेकिन यहाँ आरएसएस नेता ने राम मंदिर के लिए 1992 जैसा आन्दोलन करने की बात कहकर आग में घी डाल दिया है. जिसके बाद उनके बयान पर लगातर तीखे प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं.

बतादें कि शुक्रवार को आरएसएस सरसंघचालक भैयाजी जोशी के बयान पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आरएसएस और पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि अगर आरएसएस को लगता है कि अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के लिए किसी आंदोलन की जरूरत है तो उसे नरेन्द्र मोदी सरकार गिरा देना चाहिए.

शादी से पहले देशी गर्ल का हॉट लुक, देख कर हो जाएंगे बेहाल

शिव सेना प्रमुख ने मीडिया के साथ बात करते हुए यह भी कहा कि मोदी सरकार ने आरएसएस के समूचे एजेंडे को नजरअंदाज किया है. शिवसेना के प्रमुख ने कहा, ‘मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद राम मंदिर का मुद्दा दरकिनार कर दिया गया. जब शिवसेना ने मुद्दा उठाया और मंदिर निर्माण पर जोर देने का फैसला किया तो आरएसएस अब इस मांग पर जोर देने के लिए आंदोलन की जरूरत महसूस कर रहा है.’

बड़ी पहल: अब हिंदी में भी ट्रांसलेट होगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला…

आगे उन्होंने कहा, ‘एक मजबूत सरकार होने के बावजूद अगर आप (आरएसएस) किसी आंदोलन की जरूरत लग रही है तो इस सरकार को गिरा क्यों नहीं देते.’ दरअसल शुक्रवार को आरएसएस नेता भइयाजी जोशी ने कहा था कि राम मंदिर निर्माण के के लिए अगर 1992 जैसा आन्दोलन की जरूरत पड़ी तो वह भी किया जायेगा.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *