April 26, 2018
Else Rajya

तो क्या टूट ग‌ई बीजेपी-शिवसेना की जोड़ी!

मुंबई: महाराष्ट्र में बड़ा सियासी संकट आने की संभावना बन ग‌ई है। मंगलवार को सत्ताधारी बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव अकेले ही लड़ने का फैसला लिया है। यह फैसला ऐसे समय में यया है जब सत्ता में होने के बाद भी बीजेपी और शिवसेना के बीच छत्तीस का आकड़ा बना हुआ है।

बतातें कि महाराष्ट्र में एकबार फिर से सियासी संकट के आसार बनने लगे हैं मंगलवार को सत्तारूढ़ पार्टी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने पार्टी के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे के जन्मदिन के मौके पर कसम खाई कि वह आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव अकेले ही लड़ेगी। इसके साथ ही पार्टी अपनी पुरानी विचारधारा को फिर से जीवित करने पर जोर देगी। मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक के बाद यह फैसला लेते हुए कहा कि अब शिवसेना सभी राज्यों में अपने दम पर ही चुनाव मैदान में उतरेगी। इसके साथ ही पार्टी अपने हिंदुत्व के एजेंडे को आगे बढ़ाने का काम करेगी।

माना जा रहा है कि बीजेपी के साथ लगातार बढ़ती तल्खी से शिवसेना ने यह निर्णय लिया है। महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना की गधबंधित सरकार है, उसके बाद भी शिचसेना अकसर बीजेपी, पीएम नरेन्द्र मोदी सहित अपनी ही सरकार और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस पर सवाल उठाती रही है। महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार में होने के बाद भी विपक्षी की भूमिका में नजर आती है जिससे बीजेपी की हमेशा असहज की स्थित में रहना पड़ता है।कुछ समय पहले ही शिवसेना ने किसान, नोटबंदी, जीएसटी आदि के मुद्दों पर केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Journalist India