January 21, 2019
दिल्ली

शीला जरुरी क्यों: 80 वर्षीय शीला के कंधे पर दिल्ली कांग्रेस…

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी की दिल्ली इकाई को सजाने और संवारने का जिम्मा पूर्व सीएम शीला दीक्षित को दिया गया है. गुरुवार को कांग्रेस पार्टी ने राज्य में 15 साल कांग्रेस पार्टी की सीएम रहीं शीला दीक्षित को दिल्ली इकाई का प्रमुख बनाया है.

Loading...

बतादें कि इसी साल 80 साल की होने जा रही दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष बनाया गया है. इस पहले अजय माकन ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था. जिसके बड़ा गुरुवार को हिया कमान ने शीला दीक्षित को एकबार फ्री से पार्टी की कमाना सौंपी है.

सीबीआई पद से हटाये जाने के बाद पहलीबार बोले आलोक, दिया बड़ा बयान

ऐसे में बहुतेरे लोगों को यह कचोट गया है कि, पार्टी के लिए युवाओं को रीढ़ की हड्डी बताने वाली कांग्रेस ने युवा नेताओं को दरकिनार कर शीला दीक्षित को ही कमान क्यों सौंपी है. इतनी बुजुर्ग नेता को पार्टी अध्यक्ष बनाने के पीछे कांग्रेस हाईकमान तर्क दिया है कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनावों को देखते हुए मध्य प्रदेश और राजस्थान की तरह दिल्ली में भी अनुभव को वरीयता दी है.

माया-अखिलेश शनिवार को कर सकते हैं ‘बहुजन समाजवादी पार्टी’ का एलान…

पार्टी का मानना है कि शीला दीक्षित के पास दिल्ली अनुभव है, वह 15 साल दिल्ली की सीएम रहीं हैं. ऐसे में आम आदमी पार्टी संयोजक अरविन्द केजरीवाल और बीजेपी प्रदेश प्रमुख मनोज तिवारी से ज्यादा शीला दीक्षित के पास अनुभव है. हालाँकि पार्टी का यह तर्क गले से नहीं उतर रहा है.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *