January 21, 2019
दिल्ली

रिव्यू पिटीशन: राफेल मामला फिर पहुंचा SC, खुली अदालत में सुनवाई की मांग

नई दिल्ली: राफेल मामले को लेकर जहाँ बुधवार को लोकसभा में सरकार और विपक्ष के बीच जमकर तकरार हुई है, वहीँ इस मामले को लेकर एकबार फिर से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया है.

Loading...

बतादें कि एक मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी के साथ-साथ वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने राफेल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका लगाईं है. कोर्ट में वकीलों ने 14 दिसंबर को आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले की समीक्षा के लिए पुनर्विचार याचिका (रिव्यू पेटिशन) दायर कर एकबार फिर से सुनवाई की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने 14 दिसंबर के फैसले में फ्रांस से 36 राफेल विमानों की खरीदी प्रक्रिया में गड़बड़ी का आरोप लगाने वाली सभी जनहित याचिकाओं (PIL) को खारिज कर दिया था.

वहीँ बुधवार को लगायी गयी पुनर्विचार याचिका में आरोप लगाया गया है कि ‘सरकार की ओर से बिना हस्ताक्षर के सीलबंद लिफाफे में सौंपे गए स्पष्ट रूप से गलत दावों पर आधारित था.’ इस याचिका में यह भी कहा गया है कि इस मामले में फैसला सुरक्षित रखे जाने के बाद कई नए तथ्य सामने आए हैं, इसलिए मामले की जड़ तक जाने की जरूरत है.

साथ ही केंद्र द्वारा कोर्ट में सौंपी गयी रिपोर्ट को भी गुमराह करने वाला करार दिया गया है, क्योंकि कैग रिपोर्ट का हवाला दिया गया था सुके बारे में PAC को कोई जानकारी ही नहीं थी. जिससे यह रिपोर्ट भ्रमित करने वाली जाहिर होती है.

Loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *