October 23, 2018
Uttar Pradesh

समिति ने निकाली शोभायात्रा, 10 से होगा रामलीला का मंचन   

नोएडा: हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी नोएडा के सेक्टर 12 में होने वाली रामलीला के मंचन से पूर्व शोभायात्रा निकाली गयी. यह शोभायात्रा बजरंग राम लीला समिति की ओर से आदर्श प्राथमिक विद्यालय से शुरू होकर कई सेक्टरों से गुजरी.

बतादें कि हर वर्ष की तरह ही इस वर्ष भी नोएडा के सेक्टर 12 में रामलीला का मंचन शुरू होने जा रहा है. लेकिन यहाँ मंचन से पूर्व बजरंग राम लीला समिति की ओर से मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम चन्द्र की शोभायात्रा का आयोजन किया गया है. यहाँ शनिवार को सेक्टर-12 स्थित आदर्श प्राइमरी पाठशाला से समीति की ओर से शोभायात्रा निकाली.

इसकी शुरुआत सेक्टर-12 स्थित आदर्श प्राइमरी पाठशाला से हुई. जिसके बाद यह शोभायात्रा कई सेक्टरों से होती हुई वापस आदर्श प्राइमरी पाठशाला पहुंची. शनिवार को सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में शोभायात्रा प्राइमरी पाठशाला से होते हुए बारात घर, नोएडा स्टेडियम, सेक्टर-20 थाने, हरौला, डीएम कार्यालय, चौड़ा मोड़ होते हुए वापस सेक्टर-12 के आर्दश प्राइमरी पाठशाला लौटी.

समिति की ओर से निकाली गयी शोभायात्रा में शहनाई बैंड, झांकियां आदि शामिल रही. शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान जगह जगह स्वागत किया गया.

इस मौके पर रामलीला समिति मुख्य संरक्षक श्री एल पांडेय, अध्यक्ष श्री शिव लाल सिंह, संरक्षक राधा कृष्ण गर्ग, कुलभूषण राये नागर, निर्देशक आशोक पांडेय, सह निर्देशक कमलाकर त्रिपाठी, राहुल पांडेय पदमाकर त्रिपाठी तथा समिति के अन्य गणमान्य सदस्य मौजूद रहे.

23 सितम्बर को हुआ था भूमि पूजन

इससे पूर्व नॉएडा सेक्टर-12 में बजरंग रामलीला संचालिका समिति द्वारा आदर्श प्राथमिक विद्यालय, ब्लाक क्यू, सेक्टर -12, के प्रांगण में पूरे विधि विधान से भूमि पूजन का कार्य किया जा चुका है. यहाँ पंडित श्री अवध किशोर शास्त्री जी ने रामलीला के शुरुआत से पहले हवन कर भूमि पूजन किया गया. इस समिति की सबसे पुरानी परम्परा है, कि समिति के सभी कलाकार तथा सदस्य अग्नि को साक्षी मानकर कर ये शपथ लेते हैं कि, जब तक रामलीला की पूर्णाहुति की पूजा नहीं हो जाती है. तब तक सभी कलाकार और सदस्य किसी भी तरह के व्यसन तथा मदिरा पान का सेवन नहीं करेगें. समिति के आकर्षण की सबसे ख़ास वज़ह है. कलाकारों द्वारा लीला का मंचन तथा चौपई. समिति के निर्देशक श्री अशोक पाण्डेय जी ने बताया कि सभी कलाकार इसी सेक्टर के हैं.ये कोई पेशेवर कलाकार नहीं है, बल्कि ये लोग रामलीला के शुरू होने से करीब दो महीना पहले से अशोक पाण्डेय जी के निर्देशन में रिहर्सल करके खुद को निखारते और रामलीला मंचन के लिए तैयार करते हैं. इस समिति ने अपने लीला मंचन की शुरुआत सन 1996 में कुछ लोगों के साथ की थी. आज ये समिति एक वृहद रूप ले चुकी है.

रिपोर्ट:सिद्धियेशकर त्रिपाठी

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *