October 20, 2018
Badi khabren Desh

न मांझी, न रहबर, न हक़ में हवाएं है किश्ती भी जर्जर, ये कैसा सफर है: अविश्वास प्रस्ताव पर पीएम मोदी

नयी दिल्ली: मानसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर  चर्चा के दौरान राजनीति के कई रूप देखेने को मिले. जिसमें हमलाकर गले लगना ओर सीखे से लेकर मोदी का यह तंज भी शामिल है कि न मांझी, न रहबर, न हक़ में हवाएं है किश्ती भी जर्जर, ये कैसा सफर है.

बतादें की शुक्रवार को संसद भवन के निचले सदन यानी की लोकसभा में अविश्वास पर्स्ताव पर चर्चा जारी है. विपक्षी दल टीडीपी द्वारा लाये गये अविश्वास प्रस्ताव पर विपक्षी दल ओर सरकार के बीच घमासान जारी है. इसी बीच शुक्रवार को राहुल गांधी ने अपने संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी पर कई बड़े कटाक्ष किये. देश की पैसा लूट कर भागने वालों के बारे में बात करते हुए राहुल गांधी ने पीएम मोदी को चौकीदार नहीं बल्कि भागीदार कहा. वहीँ विपक्ष के तमाम सवालों पर सरकार का पलटवार जारी है.अब देश के पीएम नरेंद्र मोदी संसद में संबोधन कर रहे हैं.

लाइव अपडेट्स        

मैं यहां खड़ा भी हूं और जो चार साल काम करें है उसपे अड़ा भी हूं.

कांग्रेस पार्टी आज फिर से स्थिर जनादेश को अस्थिर करने के प्रयास कर रही है.

कांग्रेस अगर गाली देना चाहती है तो मोदी गाली सुनने के लिए तैयार है लेकिन कांग्रेस पार्टी देश के लिए मर मिटने वाले जवानों को गाली देना बंद करे.




मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि ईश्वर कांग्रेस को इतनी शक्ति दें कि वह 2024 में फिरसे अविश्वास प्रस्ताव लेकर आ सके.

देश को विश्वास है, दुनिया को विश्वास है लेकिन जिनको खुद पर विश्वास नहीं है वो हम पर क्या विश्वास करेंगे.

भारत ने अपने साथ ही पूरी दुनिया के आर्थिक विकास को गति दी है.

अपना कुनबा कहीं बिखर ना जाए कांग्रेस पार्टी को इसकी चिंता है और #NoConfidenceMotion इसका ही सबूत है.

न मांझी, न रहबर, न हक़ में हवाएं है किश्ती भी जर्जर, ये कैसा सफर है.

#NoConfidenceMotion के माध्यम से देश को जानने को मिला है कि देश में किस प्रकार विकास के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है और नाकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर करके रखा है.

मोदी ने कहा की हम डिजिटल लेनदेन की बात करने लगे तो सदन में बैठे लोग बताने लगे कि हमारे देश में लोग अनपढ़ हैं. ऐसे लोगों को हमारे देश की जनता ने तमाचा मारा है.

आगे कहा की विपक्ष को हमारी उपलब्‍धियों पर विश्‍वास नहीं है

हम यहां इसलिए हैं क्‍योंकि सवा सौ करोड़ देशवासियों का हमें आर्शीर्वाद है. आप इस प्रस्‍ताव के जरिए उन लोगों का अपमान न करें.

यह भी देखें-

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *