November 14, 2018
Rajneeti

आतंक पर आर-पार के मूड में पीएम मोदी, जल्द होगा सबसे बड़ा ऐलान   

नई दिल्ली/श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में जारी हर रोज की आतंकी घटनाओं पर अब जाकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने आर-पार का मूड बना लिया है. गुरुवार-शुक्रवार को आरएसएस नेताओं के साथ बैठक में भी इस बात को लेकर समहति जताई गयी है कि अब आतंक के खिलाफ निर्णायक चोट करने का समय आ गया है!

जम्मू-कश्मीर में रमजान के महीने में सरकार ने आतंकियों को खजूर खाने का पूरा मौक़ा दिया था, लेकिन खजूर की आड़ में आतंकियों ने हर बार सेना और देश को छला है. ऐसे में 17 तारीख़ को ईद के बाद जम्मू कश्मीर में सीमापार से आने वाले आतंकिओं और जम्मू कश्मीर में को लेकर एक निर्णायक फैसला लिया जायेगा. आरएसएस के एक सूत्र ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर कहा है कि हरियाणा के सूरजकुंड में तीन दिनी आरएसएस और बीजेपी नेताओं की सीक्रेट बैठक में पाकिस्तान, आतंकवाद का मुद्दा जोर शोर से उठा था. आरएसएस के कई नेताओं ने आतंकियों के खिलाफ सीजफायर के ऐलान के फैसले को भी गलत बताया है. ऐसे में सरकार पर पहले से ही दवाब है कि वह आतंक और पाकिस्तान को लेकर कोई सख्त कदम नहीं उठा पा रही है तो दूसरी ओर आरएसएस नेताओं की नाराजगी ने भी बीजेपी और सरकार को टेंशन में डाल दिया है.

आरएसएस सूत्र के अनुसार बैठक में पाकिस्तान और आतंकवाद के खिलाफ हर तरह की लड़ाई के लिए आरएसएस ने सहमती जताई है. जिसके बाद सरकार के प्रतिनिधियों ने भी आश्वासन दिया है कि अब आतंक के खिलाफ आर पार की लड़ाई होगी. और इसके लिए ज्यादा लम्बा समय भी नहीं लगाया जाएगा. वहीँ आगामी 17 जून को पीएम नरेंद्र मोदी ने आरएसएस और बीजेपी के नेताओं को इसी परिपेक्ष्य में अपने आवास पर डिनर के लिए बुलाया है.

जहाँ संघ प्रमुख से लेकर कई आरएसएस के बड़े नेता पहुंच सकते हैं. आपको मालूम हो कि गुरुवार को ही जम्मू कश्मीर में दो सबसे दहला देने वाली घटनाएं घटी थीं. जहाँ एक सेना के जवान को अगवा कर बेरहमी से हत्या कर दी तो दूसरी ओर एक न्यूज़ पेपर के संपादक और उसके ड्राईवर की भी गोलीमार कर हत्या कर दी गयी थी.

इन दोनों घटनाओं के बाद से देश में सरकार और आतंकियों दोनों के खिलाफ गुस्सा बढ़ा है. आतंकियों की कायरता और सरकार के ढिलमुल नीति के कारण लोगों में गुस्सा है. ऐसे में सरकार अब आतंक के खिलाफ सबसे करारी चोट करने की तैयारी में है.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *