November 18, 2018
Jammu Kashmir

महबूबा सरकार ने दर्ज करवाई थी FIR, अब मोदी सरकार दे रही है शौर्य चक्र सम्मान

नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारत सरकार ने वीरता का सबसे बड़े सम्मान में गिना जाने वाले शौर्य चक्र सम्मान की घोषणा कर दी गयी है. इसबार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारत के दो वीरों को यह सम्मान राष्ट्रपति देंगे.

भारत सरकार ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर शौर्य चक्र सम्मान के लिए दो वीरों का नाम चुन लिया है. जिसमें पहला नाम औरंगजेब ओर दूसरा नाम मेजर आदित्य कुमार है. दोनों ने ही भारत की शान के लिए अपनी जान को जोखिम में डाला. वहीँ औरंगजेब को यह सम्मान उनके मरणोपरांत दिया जा रहा है. जम्मू कश्मीर के 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान शहीद औरंगजेब को भारतीय सेना ने शौर्य चक्र से सम्मानित करने का फैसला लिया है.

15 जून को औरंगजेब का आतंकियों ने ईद से ठीक एक दिन पूर्व शोपियां से उन्हें अगवा कर लिया था. उसके बाद उनका गोलियों से छलनी शव पुलवामा जिले के गुस्सू इलाके में मिला था. औरंगजेब जम्मू-कश्मीर के पुंछ के रहने वाले थे. उन्होंने आतंकियों के खिलाफ कई बड़े ऑपरेशन चलाए थे. जिसके कारण उन्हें लम्बे समय से आतंकी अपना निशाना बनाने की फिराक में थे.

इसके साथ ही गढ़वाल राइफल्स के मेजर आदित्य कुमार को भी शौर्य चक्र सम्मान दिया जाएगा. वह पिछले समय अपनी सेना पर पथराव करने वाले पत्थरबाजों पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए सुर्ख़ियों में आये थे. जिसके बड़ा तत्कालीन महबूबा सरकार ने उनके खिलाफ FIR भी दर्ज करवाई थी. जब जम्मू कश्मीर में बीजेपी ओर पीडीपी गठबंधन की सरकार बनी हुई थी. वहीँ सरकार उन्हें अब शौर्य चक्र सम्मान देने जा रही है.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *