November 13, 2018
Shiksha

क्रेडिट कार्ड से हुए हैं ठगी का शिकार, यूँ चुटकी में पाएं पैसा वापस…  

जेआईडेस्क: देश में डिजिटलीकारण होने के बाद फ्रॉड भी बड़ी संख्या में बढ़े हैं. आपकी जेब में पड़ा एटीएम या क्रेडिटकार्ड भी सुरक्षित नहीं है. आप भी आये दिन क्रेडिटकार्ड से धोखाधड़ी और मिसयूज के मामले देखते होंगे. ऐसे में इससे कैसा बचा जाए. इसको लेकर हम आपको कुछ काम की जानकरी दे रहे हैं.

बतादें कि आपके क्रेडिट कार्ड के मिसयूज की संभावना कब होती है? जब आपका कार्ड गलत हाथों में चला जाए या कहें कि गुम हो जाए. इस स्थित में आपके कार्ड का मिसयूज हो सकता है और आपको बड़ी लम्बी चपत भी लग सकती है. लेकिन अगर अप यहाँ पर थोड़ी समझदारी दिखाएँ तो आपको नुकसान कम उठाना होगा.

पीएम मोदी लॉन्च करने जा रहे हैं एक पोर्टल, इन लोगों को होगा बड़ा फायदा

अगर आपका क्रेडिट कार्ड गुम जाता है या इसका दुरुपयोग होता है तो आपको सबसे पहले इसकी शिकायत बैंक को देनी होगी उसके बाद में पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवा सकते है कि आपका कार्ड कैसी गुम हुआ है? जिससे बैंक द्वारा आपको मुआवजा देने की संभावना बढ़ जाती है. दरअसल आके क्रेडिट कार्ड का भी बैंक बीमा करती है और उसका बीमा कंपनी के साथ समझौता होता है.

J&K: सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, छिपे हैं कई आतंकी

जिससे आपके नुकसान की भरपाई की जा सके. जैसा कि आपका कार्ड खो गया है तो यह बात हमेशा ध्यान रखें कि कार्ड के खोते ही इसकी जानकारी बैंक को दें और इसे ब्लॉक करवा दें. इससे इस कार्ड का गलत इस्तेमाल होने की संभावना कम हो जाती है. जिससे आपके पास एक मजबूत सबूत भी हो जाएगा. इसके बाद आप अपने नुकसान से सम्बंधित एक पत्र बैंक को देते हैं.

बैंक उस पात्र के मिलने के बाद आपके नुकसान का आंकलन करता है रो मुआवजा देने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाता है. कार्ड खोने के बाद कार्डहोल्डर को मिलने वाला मुआवजा बीमा कवर की ओर से दिया जाता है. जिससे आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. लेकिन इस स्थित में आपको समझदारी दिखानी जरुरी है. कार्ड के गम होते ही बैंक को सूचित कर एक पुलिस में शिकायत जरुर करें.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

यह भी देखें-

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *