November 18, 2018
Jammu Kashmir

JK: महबूबा मुफ़्ती की धमकी के बाद केंद्र सरकार ने लिया बड़ा फैसला

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर लगातार अनिश्चितताओं के दौर से गुजर रहा है. राज्य में सरकार के गिर जाने के बाद से राज्यपाल शासन लगा हुआ है. इसी बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. जिससे पूरा प्रशासनिक अमला हिल गया है.

बतादें कि जम्मू कश्मीर में पीडीपी और बीजेपी का गठबंधन टूटने के बाद राज्य सरकार  गिर चुकी है. इस समय जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लगा हुआ है. ऐसे में जहाँ आतंकवादी बड़ी समस्या बने हुए हैं वहीँ राज्य की कानून व्यवस्था भी चुनौती बनी है. इसी बीच राज्य की पूर्व सीएम और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती की धमकी के बाद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने राज्य में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है. केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए राज्य के डीजीपी एस. पी. वैद्य को पद से हटा दिया है.

वहीँ उनकी जगह दिलबाग सिंह को जम्मू कश्मीर में डीजीपी का चार्ज दिया गया है. दरअसल माना जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में एनएन वोहरा के कार्यकाल खत्म होने के बाद सत्यपाल मलिक को राज्यपाल नियुक्त किया गया था. उनके ही इशारे पर राज्य में यह प्रशासनिक फेरबदल किया गया है. इसके पीछे दूसरी वजह यह भी मानी जा रही है कि हाल ही में घाटी में पुलिसकर्मियों के परिवारवालों को आतंकियों से छुड़ाने के बदले एक आतंकी के पिता को छोड़ा गया था.

जिससे केंद्र सरकार डीजीपी से नाख़ुश थी, जिसके बाद पुलिस विभाग के आला अधिकारियों में फेरबदल किया गया. एसपी वैद के डिप्टी अब्दुल गनी मीर की जगह डॉ बी श्रीनिवास को लाया गया है. वहीं एसपी वैद की जगह 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी दिलबाग सिंह को राज्य के डीजीपी का चार्ज दिया गया है.

कैलाश मानसरोवर यात्रा: ‘शिवभक्त’ राहुल का नहीं देखा होगा यह नया अवतार

इसके अलावा अनुच्छेद 35ए को लेकर जारी विवाद के बीच महबूबा मुफ़्ती ने पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी दी थी, उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर से 35ए को लेकर केंद्र अपनी स्थित साफ़ करें, नहीं तो राज्य की सभी पार्टियाँ पंचायत चुनाव का बहिष्कार करेंगे.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *