November 13, 2018
Videsh

इजरायली ‘गुप्तचर’ विमान आकर, दस घंटे रुका और चला गया, पाकिस्तान को नहीं लगी कानो-कान खबर…

जेआईडेस्क: पाकिस्तान और इजरायल के बीच कोई भी कूटनीतिक संबंध नहीं है. दोनों के बीच ऐसा रिश्ता है कि इजरायली विमान पाकिस्तान के हवाई सीमा से भी नहीं गुजर सकता है. कुछ माह पहले ही पाकिस्तान सेना के बड़े अधिकारी ने इजरायल को दो मिनट में खत्म करने की धमकी दी थी. ऐसे में खबर यह उड़ रही है कि एक इजरायली विमान पाकिस्तान दस घंटे रुका और वापस लौट गया पर किसी को कानो कान खबर भी नहीं लगी…

पाकिस्तान और इजरायल के बीच के संबंधों में हमेशा से कड़वाहट रही है. 1962, 65 और 1971 के बाद पाकिस्तान और इजरायल के संबंध सबसे ज्यादा कड़वे हुए हैं. दोनों देशों में हुक्का पानी कि बात छोड़ो एक दुसरे की हवाई क्षेत्र से भी नहीं घुस सकते हैं. ऐसे में खबर यह उड़ रही है कि एक इजरायली गुप्तचर विमान पाकिस्तान गया और वहां इस्लामाबाद एयरपोर्ट पर उतरा, दस घंटे रुका और वापस इजरायल लौट गया. इस खबर के सामने आते ही पाकिस्तान में हडकंप मच गया. पाकिस्तानी विपक्ष ने सरकार से तुरंत जवाब और जांच की मांग कर दी. मीडिया में यही ख़बरें सुर्खियाँ बनी हुई हैं. उपर से पाकिस्तान विदेश मंत्री और एविएशन मिनिस्टर भडके हुए हैं. सभी स्थितियों में ऐसा लग रहा है कि पाकिस्तान को खुद नहीं पता है कि क्या कोई इजरायली विमान पाकिस्तान के इस्लामाबाद की जमी पर उतर कर चला गया?


गणतंत्र दिवस: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ने अस्वीकार किया भारत का न्योता

आखिर यह बात कहाँ से और क्यों वायरल हुई. पूरा मामला एक इसराइली पत्रकार और इसराइली अख़बार हार्ट्ज के संपादक अवी शार्फ़ के उस ट्वीट से सामने आई है. जिसमें उन्होंने 25 अक्टूबर को दिन में दस बजे ट्वीट कर लिखा था कि एक इजरायली विमान पाकिस्तान में उतरा. एक विदेशी मीडिया ने इस ट्वीट की पड़ताल अपने स्तर पर की और पता किया कि इसकी हकीकत क्या है? पड़ताल में पता चला कि एक जहाज़ पाकिस्तान आया और दस घंटे के बाद रडार पर दोबारा देखा गया. जहाजों की आवाजाही और लाइव एयर ट्रैफ़िक पर नज़र रखने वाली वेबसाइट फ़्लाइट रडार पर इस जहाज़ के इस्लामाबाद आने और दस घंटे बाद जाने के सबूत मौजूद हैं. इस बात से यह पुष्टि हो गयी थी कि पाकिस्तान की जमी पर एक विदेशी अनजान जहाज उतरा था और दस घंटे रुकने के बाद चला गया.

पत्नी ने नहीं रखा करवाचौथ का व्रत, तो नाराज पति ने दे दी जान…

ग्लोबल एक्सप्रेस एक्सआरएस 9394 सीरिअल नंबर का यह जहाज 22 फ़रवरी 2017 से ब्रिटेन के संप्रभु राज्य आयल ऑफ़ मैन में रजिस्टर्ड है. इससे पहले इसकी रजिस्ट्री केमैन द्वीप में थी. इसे पते पर 38 और कम्पनियां दर्ज हैं. वहीँ जहाज के पाकिस्तान में उतरने को लेकर मीडिया ने अवी शार्फ़ से सम्पर्क साधा और इस बारे में पुष्टि की तो उन्होंने बताया कि 24 अक्टूबर की सुबह तेल अवीव से एक जहाज उड़कर इस्लामाबाद पहुंचा. मगर हकीकत यह है कि जहाज़ के पायलट ने उड़ान के दौरान एक चालाकी करते हुए जहाज़ तेल अवीव से उड़कर पांच मिनट के लिए जॉर्डन की राजधानी अम्मान के क्वीन आलिया छोटे से हवाई अड्डे पर उउतारा और उसी रनवे से वापस उड़ान भर के पाकिस्तान के लिए रवाना हो गया.

इस तरह से इस जहाज की कोडिंग डिटेल बदल कर अम्मान के क्वीन आलिया हो गयी. जबकि जहाज तेल अवीव से ही उड़ा था. पायलट ने चालाकी के साथ फ्लाईट का कोड बदलने के लिए इसे अम्मान के क्वीन आलिया उतारा और कुछ ही देर में उसी रनवे से इसे इस्लामाबाद के लिए रवाना कर दिया. जिससे यह अम्मान से इस्लामाबाद की फ्लाईट बन गयी.

50 किलो बारूद में हुआ धमाका और हवा में उड़ गयी CRPF की बख्तरबंद गाड़ी…

दरअसल कूटनीतिक सम्बन्ध न होने के चलते इजरायल का कोई भी विमान पाकिस्तान में नहीं उतर सकता है, लेकिन चालाकी से इसे अम्मान उतारकर इसके कोडिंग को बदल दिया गया जिससे पाकिस्तानी एयरट्रैफिक को गुमराह किया जा सके. इसके लिए पत्रकार और सम्पादक अवी शार्फ़ ने फ़्लाइट का सबूत ट्विटर पर शेयर कर दिया. जिसमें फ़्लाइट तेल अवीव से अबुधाबी गया, लेकिन इसने अम्मान का रास्ता चुना, जहां जहाज उतरा और फिर नए कोड के साथ पाकिस्तान के लिए रवाना हो गया.

पाकिस्तान क्यों आया विमान?

थरूर ने कहा: संघ के लिए मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू…

अगर तकनीकी रूप से कहा जाए कि यह विमान इजरायली था तो इसका जवाब न होगा, लेकिन यह विमान इजरायल का ही था. पाकिस्तान एयर ट्रैफिक को गुमराह करने के लिए इसे अम्मान की फ्लाईट बनाया गया था. वहीँ इस के बड़ा सवाल उठने लगा है कि अगर वाकई इजरायली विमान पाकिस्तान के इस्लामाबाद गया और दस घंटे रुका तो इसके पीछे कारण क्या था? उस विमान से कौन उतरा और कौन चढ़ा. यह सारी बातें पाकिस्तान को परेशान कर रही हैं. और उससे भी परेशान करने वाला पाकिस्तान सरकार बयान है.

जिससे दाल में कुछ तो काला है वाली फीलिंग आ रही है. दरअसल विपक्ष ने जब सवाल किया तो इमरान ख़ान की सरकार में सूचना मंत्री फ़वाद हुसैन चौधरी ने कहा कि, ”सच तो यह है कि इमरान ख़ान न तो नवाज़ शरीफ़ हैं और न उनकी कैबिनेट में आप जैसे जाली अरस्तू हैं. हम न मोदी जी से ख़ुफ़िया बातचीत करेंगे और न ही इजरायल से.

पाकिस्तानी महिला ANF टीम का फिल्मी कारनामा: 400 किलो ड्रग्स में आग लगा कर ली सेल्फी…

आपको पाकिस्तान की इतनी फ़िक्र होती, जितनी दिखा रहे हैं तो आज हमारा मुल्क इन हालात में नहीं होता. जाली फ़िक्र ना करें, पाकिस्तान सुरक्षित हाथों में है.” मतलब पाकिस्तानी मंत्री की झल्लाहट ने इस बात को और भी बल दे दिया. वैसे आपको यह भी बता देन कि इजरायली मोसाद आँखों से काजल निकालने वाली एजेंसी है. उसके ऑपरेशन करने के तरीके और चालें दुनियाभर में चर्चित हैं.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

यह भी देखें-

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *