April 26, 2018
Lifestyle Manoranjan

मॉडलिंग की राह यूँ ही आसान नहीं है: इंदु दीक्षित

भारत में महिलाओं का मॉडलिंग के क्षेत्र में आना और एक अच्छे मुकाम पर पहुंचा बहुत बड़ी बात होती है. मॉडलिंग एक शब्द ही ऐसा ही जिसे हमारा समाज कहीं न कहीं अभी भी स्वीकार करने में असमर्थ है. लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जोकि समाज की सोच धारणाओं को उलट देते हैं और मॉडलिंग की दुनिया का चमकता सितारा बन जाते हैं. जी हां आज हम बात कर रहे हैं छोटे से शहर से निकली इंदु दीक्षित की, जिन्होंने तमाम मुश्किलों और अटकलों को धता बताकर मॉडलिंग के क्षेत्र में अच्छा खासा नाम कमाया है.

आज हम बात कर रहे हैं मॉडलिंग की दुनिया में आग लगाने वाली खूबसूरती की मिसाल इंदु दीक्षित की. जिन्होंने अपने दम पर मॉडलिंग के क्षेत्र में कदम रखा और फिर कभी पीछे लौटकर   नहीं देखा. अपने कैरियर को बनाने और जमाने को यह बताने के लिए कि छोटे शहरों में भी चाँद निकलते हैं, इंदु दीक्षित ने वह कर दिखाया जिसकी कोई उम्मीद भी नहीं कर सकता था. अपने करियर के बारे में इंदु दीक्षित का कहना है कि ‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि मॉडलिंग और एक्टिंग के दुनिया में संघर्ष काफी ज्यादा है. कई बार आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और खासकर जब आप किसी छोटे शहर के रहने वाले हैं.

इसलिए लोग मेरी काबिलियत पर सवाल उठा रहे थे कि, तुम ऐसा नहीं कर पाओगी लेकिन मैंने ठान लिया था कि अब इसको पूरा करके ही रुकना है’। 22 वर्षीय इंदु दीक्षित का सीतापुर से संबंध है. इंदु दीक्षित के पिता बैंक मैनेजर पद से रिटायर हो चुके हैं और मां हाउस वाइफ हैं। इंदु दीक्षित ने पढ़ाई-लिखाई लखनऊ में की थी. परिवार वाले इंदु दीक्षित को एक ऑफिसर बनाना चाहते थे. लेकिन कुदरत को वह नामंजूर था. राजधानी से सटे छोटे जिले सीतापुर की इंदु कभी मॉडलिंग का सितारा बनेगी किसी को उम्मीद भी नहीं थी और न ही किसी ने ऐसे कुछ सोचा था.

इंदु दीक्षित ने जब मॉडलिंग और एक्टिंग की दिशा में कदम रखा तो अपनों का ही विरोध झेलना पड़ा. इसके पीछे कारण यह भी रहा है कि भारतीय समाज आज भी मॉडलिंग या एक्टिंग जैसे पेशे को स्वीकार नहीं कर सका है, ख़ास तौर पर जब अप किसी छोटे शहर से संबंध रखते हों. शुरूआती समय में इंदु को इस राह में बहुत की परेशानियां उठानी पड़ी. लोगों ने फिटनेस से लेकर लुक आदि में भी कमी निकालनी शुरू कर दी. लेकिन इंदु दीक्षित ने किसी की ना सुनी. उन्होंने प्रण कर लिया कि सवाल उठाने वाले हर पेशे को लेकर सवाल उठाएंगे. इंदु दीक्षित बताती हैं कि जब आप सफल होने लगते हैं तो लोगों नजरिया खुद बा खुद बदलने लगता है.

मॉडलिंग और फिटनेस का है गहरा रिश्ता

कुछ पेशे ऐसे होते हैं जिनमें कई चीजों की जरूरत भुत ही ज्यादा होती है. खासकर जब आप एक्टिंग या मॉडलिंग के क्षेत्र में आये हों. या आपका लुक, फिटनेस, बॉडी लैंग्वेज आदि को ज्यादा ही नोटिस किया जाता है. मॉडलिंग के क्षेत्र के लोगों को सबसे ज्यादा अपनी फिटनेश को लेकर संजीदा रहना पड़ता है. इंदु दीक्षित का ने कहा कि वह खुद अपनी फिटनेस को लेकर काफी फिक्रमंद रहती है.’

मेहनत और अपने काम के प्रति लगन होने के कारण ही मॉडलिंग की दुनिया में कदम रखने वाली इंदु दीक्षित ने कुछ ही समय में बड़े खिताब अपने नाम किये हैं. 22 वर्षीय इंदु दीक्षित अभी तक कई खिताब जीत चुकी हैं-

गोवा में नवंबर साल 2017 में आयोजित हुए इंटरनेशनल शो में बेस्ट ब्यूटीफुल फेस का टाइटल  जीता है. इसके साथ ही 2017 में आयोजित हुयी मिस्टर एंड मिस यूपी शो में मोस्ट फैशनेबल के खिताब से नवाजी जा चुकी हैं. 2017 में ही मिस नॉर्थ इंडिया का टाइटल जीतने के बाद साऊथ की मूवी के डायरेक्टर अंबिका किरण के साथ एक मूवी साइन की है।

इसके साथ ही फरवरी 2018 में फैशन मैगजीन ‘फैशन हेराल्ड’ नाम से लॉन्च होनी है। जोकि इंदु जी के जीवन के कई किस्सों को संजोय हुए है. बचपन से ही फैशन का शौक रखने वाली इंदु दीक्षित का सपना है कि वह एक टॉप लेवल की मॉडल बन देश के लिए खिताब जीतें.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Journalist India