October 23, 2018
Badi khabren Desh

S-400 डील पर मुहर: लेन-देन बंद करने की धमकी देने वाले अमेरिका ने भी डाले हथियार

नई दिल्ली: भारत और रूस के बीच लगभग 39 हजार करोड़ रूपये में S-400 मिसाइल डील पर मुहर लग गयी है. शुक्रवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रुसी राष्ट्रपति व्लादमीर पुतिन ने चर्चा के बाद इस डील पर मुहर लगा दी. लेकिन डील फाइनल होने के बड़ा अमेरिका के रुख की चर्चा हो रही है जिसने एक दिन में ही अपना मत बदल दिया है!

बतादें कि भारत और रूस के बीच होने वाली इस डील को लेकर पिछले लम्बे समय से अमेरिका की भौहें तनी हुई थी. रूस के साथ व्यापार करने वाले देशों पर प्रतिबन्ध लगाने की धमकी और उसके बाद खुले तौर पर भारत को रूस के साथ व्यापार संबंधों को लेकर लेन देन बंद करने की धमकी वाले अमेरिका को भी आखिरकार इस डील को स्वीकार ही करना पड़ा.

शुक्रवार को जब  रूस के राष्ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच चर्चा के बाद S-400 डील पर मुहर लग गई. यह लगभग 39 हज़ार करोड़ रूपए में भारत और रूस के बीच हुआ है. पिछले लम्बे समय से इस डील पर मुहर लगनी बाकी थी जिसे अब पूरा कर लिया गया है. इसी दल के तहत भारत को पांच S-400 एयर डिफ़ेंस सिस्टम 2020 तक रूस से मिलेंगे.

भारत-रूस की इस डील पर सबसे ज्यादा एतराज अमेरिका को था, जिसमें हाल में रूस के साथ व्यापार करने वाले देशों के साथ लेन देन बंद करने तक की धमकी दी थी. डील होने के तुरंत बाद अमेरिकी दूतावास ने बयान जारी तो किया लेकिन इस सौदे को लेकर सीधे कोई तीखी टिप्पणी नहीं की.

उसकी ओर से यह जरूर कहा गया कि रूस का साथ देने वालों के लिए भविष्य में प्रतिबंध की नौबत आ सकती है. अमेरिका ने अपने कानून ‘काटसा’ का हवाला देते हुए कहा कि इसका मकसद रूस के रक्षा सेक्‍टर में पूंजी पर अंकुश लगाना है, लेकिन अमेरिका के सहयोगियों की रक्षा क्षमताओं को नुकसान पहुंचाना नहीं. इशारा साफ है, अमेरिका भी यह समझता है कि भारत-रूस के रक्षा संबंध दशकों से है और रूस भारत का सबसे बड़ा डिफेंस पार्टनर है. ऐसे में भारत पर अगर कोई भी प्रतिबन्ध लगाया तो भारत से ज्यादा अमेरिका को ही इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है, क्योंकि भारत दुनिया के नामचीन बाजारों में से एक बाजार है. जिससे दुनिया का कोई समझदार देश व्यापारिक युद्ध नहीं चाहेगा.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विट पर भी जुड़ सकते हैं.

फेसबुक पेज पर जाने ले लिए क्लिक करें 

ट्विटर पेज पर जाने ले लिए क्लिक करें 

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *