November 15, 2018
Uttar Pradesh

चार माह बाद खुला हत्या का केस तो पुलिस के भी रह गयी हैरान…

लोनी(योगेश कुमार): गाजियाबाद के मोदी नगर से दिसम्बर में एक नाबालिग के लापता और हत्या के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है. इस मामले में कई मोड़ आये थे. जिसके चक्कर में पुलिस की भी जमकर किरकिरी हुई. वहीँ अब पुलिस ने जब मामले का खुलासा किया तो सभी हैरान रह गये.

बतादें कि साल 2017 के दिसंबर माह में गाजियाबाद के मोदीनगर से एक नाबालिग लड़की के गायब होने के बाद जनवरी में उसकी ह्त्या कर दी गयी थी. जिसका शव मेरठ से बरामद किया गया था. वहीँ इस मामले को लेकर मृतका के पिता ने राज्य के सभी बड़े प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ से तक गुहार लगाई थी. जिसके बाद पुलिस ने दुबारा मामले की सिरे से जांच शुरू की. इस मामले का खुलासा करते हुए क्राइम ब्रांच ने मृतका के प्रेमी को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि सुमित नाम का एक युवक और उसका पिता सहित एक अन्य को भी गिरफ्तार किया है.

शादी का दबाव

हत्या और शव मिलने के बाद क्षेत्र में जमकर बवाल हुआ था. जिसके बाद पुलिस ने सुमित नाम एक सख्श को हिरासत में भी लिया लेकिन मामले में पुलिस ने लापरवाही बरती और बिना जाँच के  उसे छोड़ दिया. वहीं क्राइम ब्रांच की जांच में कॉल डिटेल और कड़ी पूछताछ में युवक ने अपना गुनाह कबूल करते हुए पुलिस को बयान दिया है कि उसने नाबालिग की हत्या सिर्फ इस लिए कर दी क्योंकि वह शादी का दबाव बना रही थी. आरोपी का मृतका के साथ अवैध संबंध भी हो गया था. जिसके बाद दोनों घर से फरार हो गये थे.

पुलिस की किरकिरी

इस हाईप्रोफाइल मामले में पुलिस की तब किरकिरी हुई जब पोलिओस ने जाँच के नाम पर पीड़ित परिवार से ही पैसे वसूलने शुरू कर दिए. जाँच के नाम पर होटलों में रुकना, गाड़ी का खर्च आदि सब मृतका के परिवार से ही वसूला जाता था. वहीं इस दौरान मुख्य आरोपी सुमित 6 बार से भी अधिक पुलिस थाने में आया और चला गया, लेकिन पुलिस को उसपर जरा भी शक नहीं हुआ. अगर पुलिस पहले ही कॉल डिटेल और लोकेशन आदि को सही से जांचती तो यह मामला पहले ही खुल जाता.

Report: Yogesh Kumar

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *