November 13, 2018
Desh

जस्टिस चेलमेश्वर पहुंचे ‘कांग्रेस से जुड़े संगठन’ के कार्यक्रम में, राम मंदिर पर दिया बड़ा बयान… 

नई दिल्ली: देशभर में राम मंदिर निर्माण की मांग बढ़ती जा रही है. आरएसएस ने भी कथित तौर पर राम मंदिर के लिए कानून बनाने की मांग तेज कर दी है. इसी बीच सुप्रीम के पूर्व न्यायाधीश जे. चेलमेश्वर कांग्रेस पार्टी से जुड़े एक संगठन में पहुंचे हुए थे. जहाँ उन्होंने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है.

बतादें कि इसी साल सुप्रीम कोर्ट से रिटायर हुए वरिष्ठ जस्टिस जे. चेलमेश्वर शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी से जुड़े संगठन ऑल इंडिया प्रोफेशनल्स कांग्रेस (एआईपीसी) की ओर से आयोजित एक परिचर्चा सत्र में शामिल होने के लिए पहुंचे हुए थे. जहाँ उन्होंने सरकार द्वारा राम मंदिर पर कानून बनाने की बात कही. परिचर्चा के दौरान उनसे पूछा गया कि क्या सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर का मामला होने के बाद भी सरकार इसपर कानून बना सकती है?

इस राज्य में हो रही है आज वोटिंग: बीजेपी-कांग्रेस के बीच माना जा रहा मुकाबला

जिसपर रिटायर्ड जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा, “यह एक पहलू है कि कानूनी तौर पर यह हो सकता है (या नहीं). दूसरा यह है कि यह होगा (या नहीं). मुझे कुछ ऐसे मामले पता हैं जो पहले हो चुके हैं, जिनमें विधायी प्रक्रिया ने उच्चतम न्यायालय के निर्णयों में अवरोध पैदा किया था.” उनका कहना था कि सरकार कई बार विधायी काम में दखल दे चुकी है.

अमेरिका, भारत पर लगाने जा रहा है प्रतिबंध, चौपट हो सकता है…

इसके कई उदहारण हैं. जस्टिस चेलमेश्वर ने बताया कि कावेरी जल विवाद पर उच्चतम न्यायालय का आदेश पलटने के लिए कर्नाटक विधानसभा द्वारा एक कानून पारित करने का उदाहरण भी दिया. इसके साथ ही राजस्थान, पंजाब एवं हरियाणा के बीच अंतर-राज्यीय जल विवाद से जुड़े मामले का भी उदहारण दिया. उन्होंने कहा कि, “देश को इन चीजों को लेकर बहुत पहले ही खुला रुख अपनाना चाहिए था….यह (राम मंदिर पर कानून) संभव है, क्योंकि हमने इसे उस वक्त नहीं रोका.” मालूम हो कि इससे पहले न्यायाधीश जे. चेलमेश्वर उन पांच जजों में शामिल थे जिन्होंने प्रेस वार्ता कर CJI दीपक मिश्रा पर कई आरोप लगाये थे.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *