October 23, 2018
Rajneeti

पुलिस की बर्बरता: किसानों के समर्थन में उतरे पूर्व सीएम अखिलेश यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से हजारों की संख्या में किल्ली की ओर कूच करने वाले किसानों को दिल्ली यूपी बॉर्डर पर रोक लिया गया है. किसानों की आवाज को दबाने के लिए उनके बर्बरता शुरू कर दी है. इसी बीच यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी किसानों के समर्थन में उतर आये हैं.

बतादें कि सोमवार को भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में हजारों की संख्या में किसान दिल्ली के ओर कूच करते हुए बॉर्डर पर पहुंचे हुए हैं. अपनी तमाम मांगों को लेकर दिल्ली की ओर से कुछ करने वाले किसानों को दिल्ली में दाखिल होने की इजाजत नहीं दी गई है. जिसको लेकर उत्तर प्रदेश (यूपी) के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने किसानों का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार ने उनसे किये वाडे पूरे नहीं किये है ऐसे में किसानों का प्रदर्शन स्वाभविक है.

वहीँ उन्होंने कहा कि वह किसानों का समर्थन करते हैं. इससे पहले दिल्ली एक सीएम अरविन्द केजरीवाल ने भी किसानों को दिल्ली में एंट्री न दिए जाने को एलकार सवाल उठाया था. मालोम हो कि किसान कराती यात्रा को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए दिल्ली-यूपी बॉर्डर को सील कर दिया गया है. पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू कर दिया गया है. वहीँ अब खबर है कि किसानों पर पुलिस ने पानी की बौछारे की हैं.

जिससे किसानों को रोका जा सके. उत्तराखंड के हरिवार से यह किसान मार्च करते हुए यूपी –दिल्ली बॉर्डर पर पहुंचे हुए हैं. पिछले 23 सितम्बर से शुरू हुई किसान क्रांति पदयात्रा दिल्ली बॉर्डर पर पहुंचे चुकी है. यह किसान कर्जमाफी और बिजली बिल के दाम करने जैसी कई अन्य मांगों को लेकर सरकार के पास अपनी बात रखने के लिए आये हुए थे.

यह किसान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर और मेरठ जिलों से गुजरते हुए सोमवार को गाजियाबाद तक पहुंच गए, लेकिन यहाँ यूपी दिल्ली बॉर्डर पर उन्हें रोक दिया गया. वहीँ इसी बीच किसानों के प्रतिनिधिमंडल से उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुलाक़ात की लेकिन मीडिया के मुताबिक़ यह मुलाक़ात विफल रही है. 

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

फेसबुक पेज पर जाने ले लिए क्लिक करें 

ट्विटर पेज पर जाने ले लिए क्लिक करें 

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *