November 12, 2018
Badi khabren Uttar Pradesh

अयोध्या: राम मंदिर पर योगी सरकार ने खड़े किये हाथ, कहा हम कुछ नहीं कर सकते…   

लखनऊ/अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बहस तेज हो गयी है. आरएसएस, केंद्र सरकार पर कानून बनाने के लिए कह रही है. इसी बीच उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है.

बतादें कि न्यूज़ एजेंसी के साथ में बात करते हुए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रदास मौर्य ने कह है कि वह राम मंदिर निर्माण की तिथि नहीं बता सकते हैं, उन्होंने आगे कह है कि राम मंदिर पर हम कुछ नहीं कर सकते हैं क्योंकि ये मामला अभी अदालत में है. न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने ये भी कहा कि मंदिर निर्माण की हम तारीख भी नहीं बता सकते हैं. उपमुख्यमंत्री ने कहा, “दबाव या प्रभाव की बात नहीं है…जो मामला कोर्ट में है उस पर हम कुछ नहीं कह सकते हैं…लेकिन अयोध्या में रामलला की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर जरूर बनेगा, कब बनेगा ये तिथि हम नहीं बता सकते हैं…ये हमारे हाथ में नहीं है, ये कोर्ट के हाथ में है.”

जस्टिस चेलमेश्वर पहुंचे ‘कांग्रेस से जुड़े संगठन’ के कार्यक्रम में, राम मंदिर पर दिया बड़ा बयान… 

जहाँ एकओर आरएसएस लगातार केंद्र सरकार पर मंदिर निराम को लेकर दवाब बना रहा है. ऐसे में यूपी के उपमुख्यमंत्री का बयान कई मायनों में अहम् माना जा रहा है. दरअसल अगर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के एक बयान पर गौर करें तो उन्होंने कहा था कि अगर केंद्र में बीजेपी की सरकार होने के बाद भी आरएसएस को मंदिर निर्माण के लिए आन्दोलन की जरूरत महसूस हो रही है तो उन्हें (आरएसएस) को बीजेपी सरकार गिरा देनी चाहिए.

इस राज्य में हो रही है आज वोटिंग: बीजेपी-कांग्रेस के बीच माना जा रहा मुकाबला

ऐसे में यह दोहरा मापदंड देखने को मिल रहा है. आरएसएस जोकि सभी जानते हैं (जिसके इशारे पर पूरी बीजेपी चलती है) वह संगठन मंदिर निर्माण के लिए कथित तौर पर सरकार से क़ानून के लिए मांग कर रही है, तो वहीँ केंद्र से लेकर यूपी सरकार पर तब कोर्ट के सहारे रुके हुए हैं. दरअसल कई संतों और विहिप के पूर्व प्रमुख प्रवीन तोगड़िया यहाँ तक कह चुके हैं कि बीजेपी और आरएसएस मन्दिर निर्माण में दिलचस्पी नहीं ले रहा है.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *