July 17, 2018
Home Sampaadakeey Archive by category Kavita/kahaanee (Page 2)

Kavita/kahaanee Sampaadakeey

कासगंज बदनाम कर दिया……

कासगंज बदनाम कर दिया…… कासगंज बदनाम कर दिया चंद वहाबी कपूतों ने चंदन का देखो खून कर दिया चंद वहाबी कपूतों ने मौन हमारा मौन रहा, हम इक शब्द न बोल सके लहू हमारा छलनी कर दिया, चंद वहाबी कपूतों ने कासगंज बदनाम कर दिया…… देश में सब गर भाई  है, तो गद्दार वो बोलो […]