November 13, 2018
Rajneeti

दिवाली के एक दिन बाद धुंआ-धुंआ हुई दिल्ली…

नई दिल्ली: बुधवार को देश ने दिवाली का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया है. पूरे देश में लाइटिंग और पटाखों की गूँज से रात भर दिवाली का जश्न मनता रहा, लेकिन गुरुवार सुबह ही दिल्ली वालों पर बड़ी आफत आ गयी है.

दरअसल जिसका अंदाजा था ठीक वैसा ही हुआ, बुधवार देर रात दिल्ली में एनसीआर में दिवाली के मौके पर फोड़े गये पटाखों से उठा धुंआ गुरुवार सुबह मुसीबत बन गया. दिल्ली के कई इलाकों में पटाखों के धुएं के कारण धुंध से पट गये.

दिल्ली एनसीआर में अभी चारो ओर धुंध देखी जा सकती है. गुरुवार को जारी एयर क्वॉलिटी इंडेक्स में दिल्ली की हवा ‘खतरनाक’ स्तर पर पहुंच गई है. इसके साथ ही दिवाली एक मौके पर पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अज्मकर उल्लंघन भी हुआ. बुधवार शाम से सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ जाकर तय समय से पहले और बाद में भी दिल्ली-एनसीआर में जमकर पटाखे फोड़े गये.

दिवाली एक एकदिन बाद यानी की गुरुवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआई) के अनुसार, आनंद विहार में प्रदूषण का स्तर 999, अमेरिकी राजदूतावास, चाणक्यपुरी में 459 और मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में एक्यूआर 999 रहा. प्रदूषण का स्तर 999 पहलीबार पहुंचा है. जोकि बेहद खतरनाक स्थित में आता है.

एक्यूआई के मुताबिक, लोधी रोड इलाके में पीएम2.5 और पीएम10 का स्तर 500 दर्ज किया गया. मेजर ध्यानचंद स्टेडियम (इंडिया गेट) के आसपास पीएम 2.5 का स्तर सामान्य से 30 गुना ज्यादा और पीएम 10 का स्तर 20 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. इसके साथ ही वजीरपुर में 2.5 का स्तर 18 गुना और पीएम 10 12 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. इसी तरह जहांगीरपुरी में 2.5 17 गुना और पीएम 10 12 गुना ज्यादा दर्ज किया गया.

नोटबंदी के दो वर्ष: ‘ये बीमार सोच वाला मनहूस कदम’

आरकेपुरम में 2.5 अभी भी 11 गुना ज्यादा और पीएम 10 8 गुना ज्यादा बना हुआ है. वहीँ अहम् बात यह ही कि दिल्ली एनसीआर में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी आदेश की भी जमकर धज्जियां उड़ी. लोगों ने तय समय से और टी समय के बाद तक जमकर पटाखे फोड़े. जिससे गुरुवार सुभ दिल्ली-एनसीआर में कई जगह साँस लेना भी दूभर हो गया है. प्रदूषण से सबसे ज्यादा दिक्कत बुजुर्ग और बच्चों को हो रही है.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *