November 12, 2018
karobar

तो क्या CBI के बाद RBI भी निपट गया…

नई दिल्ली: देश की स्वायत्त संस्थाओं को कैसे धीरे धीरे करके निशाना बनाया जा रहा है! इसकी कलई खुलकर सामने आने लगी है. सीबीआई के बाद अब आरबीआई में भी घमासान मच चुका है. आरबीआई की कर्मचारी संघ ने सरकार पर बड़ा ही गंभीर आरोप लगाया है.

बतादें कि एक मीडिया को मिली आरबीआई कर्मचारी संघ के पत्र के बाद इस बात का खुलासा हुआ है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के वरिष्ठ अधिकारियों ने सरकार पर रिजर्व बैंक के कामकाज में दखल देने का गंभीर आरोप लगाया है और ऐसा बंद ना होने पर इसके बुरे परिणाम भुगतने की चेतावनी तक दे डाली है. दरअसल मीडिया हाउस को मिली एक चिठ्ठी से इस बात का खुलासा हुआ है. जिसके आरोप लगाया गया है कि सरकार आरबीआई के काम काज में दखल दे रही है. जिससे बैंक की स्वायत्तता को खतरा पहुंच रहा है. MP: राहुल गांधी के रोड शो में उमड़ा जनसैलाब, नहीं थी पैर रखने की जगह…

कर्मचारियों ने डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के उस बयान का भी समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने सरकार की दखलअंदाजी की बात कही थी. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि यह देखना सुखद है कि आखिरकार भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल केंद्रीय बैंक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ‘बचा रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि देश भाजपा-आरएसएस को संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.

CBI के बाद RBI में भी बवाल, कर्मचारियों ने ‘सरकार’ पर लगाया गंभीर आरोप  

PICS: रिंग‌ में अच्छे-अच्छों के छक्के छुड़ा देती थी यह हॉट WWE स्टार…

गांधी ने ट्वीट किया, “यह अच्छा है कि आखिरकार पटेल आरबीआई को ‘मिस्टर 56’ से बचा रहे हैं. कभी नहीं से विलंब बेहतर, भारत भाजपा/आरएसएस को हमारी संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.” आगे राहुल ने कहा था कि पटेल ने आरबीआई को 56 इंच से बचाने के लिएय कोई देरी नहीं की है. ऐसे में एक सावल खड़ा हो गया है कि क्या सरकार देशभर की सभी स्वायत संस्थाओं के काम काज में देखल देकर उन्हें प्रभावित करना चाहती है. सरकारी संस्थाओं से इस प्रकार ने उठने वाली विरोध की चिंगारी काफी खतरनाक हो सकती है.

आप हमारे साथ फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.

loading...

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *